देश की जनता से माफी मांगे पंजाब सरकार और कांग्रेस:योगी

 


पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में हुई चूक को लेकर भाजपा कांग्रेस सरकार पर जबरदस्त तरीके से हमलावर है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी पंजाब सरकार पर जमकर हमला किया है और माफी की मांग कर दी है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पंजाब दौरे के दौरान उनकी सुरक्षा व्यवस्था के साथ जो खिलवाड़ पंजाब सरकार के संरक्षण में हुआ वह पंजाब में व्याप्त अराजकता और दुर्व्यवस्था का उदाहरण है। पंजाब सरकार को देश की जनता से इसके लिए माफी मांगनी चाहिए।

योगी ने आगे कहा कि कांग्रेस देश की संवैधानिक व्यवस्थाओं का अवमानना करती रही है और उसका उदाहरण एक बार फिर से देश ने देखा है। हमारे लोकप्रिय नेता और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सुरक्षा के साथ जिस तरीके से सुरक्षा के साथ गंभीर चूक पंजाब के अंदर हुई है वह अक्षम्य है। उन्होंने कहा कि देश किसी भी प्रकार की साजिश को सफल नहीं होने देगा। पंजाब सरकार और कांग्रेस को देश की जनता से माफी मांगने चाहिए।  उत्तराखंड CM पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि इस प्रकार से कोई भी सरकार प्रधानमंत्री की सुरक्षा में इतनी बड़ी चूक कर सकती है, इतना बड़ा खिलवाड़ कर सकती है, ये लोकतंत्र के लिए शर्म की बात है। कांग्रेस पार्टी का इतिहास रहा है, इन्होंने हमेशा देश के लोकतंत्र को समाप्त करने का काम किया है। 

वहीं भाजपा के केंद्रीय कार्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता में स्मृति ईरानी ने साफ तौर पर कहा कि पंजाब सरकार ने पीएम की सुरक्षा में चूक की है। प्रधानमंत्री के जान को जोखिम में डाला गया और पंजाब पुलिस मूकदर्शक बनी रही। उन्होंने दावा किया कि पंजाब में कानून व्यवस्था पूरी तरीके से फेल है। पंजाब पुलिस ने रूट क्लीयरेंस दी थी। इसके साथ ही उन्होंने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि वे लोग प्रधानमंत्री से नफरत करते हैं। स्मृति ईरानी ने कहा कि भारत के इतिहास में आज पंजाब की पुण्य भूमि पर कांग्रेस के खूनी इरादे नाकाम रहे। जो लोग कांग्रेस में प्रधानमंत्री जी से घृणा करते हैं, वो आज उनकी सुरक्षा को नाकाम करने के लिए प्रयासरत थे। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक