विकास की तेज रफ्तार को बयां करती सड़क


 मछरेहटा -
सीतापुर । प्रदेश सरकार द्वारा सड़कों को गड्ढामुक्त करने के लिए दिए गए आदेश की हकीकत जाननी हो तो  किसी भी गांव या कस्बे को घूमने से पता चल जाएगा । कागजों पर लीपापोती करने के आदी हो चुके अधिकारियो पर इस बात का कोई प्रभाव नही पड़ता कि आदेश  आला अधिकारी का है या फिर मुख्यमंत्री का । पंचायतीराज विभाग ने तो ऐसी विकास की गंगा बहाई है कि बीते पाच साल मे फाइलों पर किसी किसी गांव मे  आवास पूरे बन गए । शौचालय हर घर मे हो गये । ऐसा कोई गांव नही जहां दस बीस पशु बाड़े न बने हों लेकिन हकीकत किसी से छिपी नही । सोशल आडिट की टीम को भी प्रधानों के माध्यम से संतुष्ट करने की व्यवस्था हो जाती है । गड्ढामुक्त सड़कों की हकीकत जानने के लिए जब संवाददाता ने मुख्य मार्ग से गांवो को जोड़ने वाली सड़क देखी तो आश्चर्य हुआ कि ब्लाक मुख्यालय मछरेहटा से पूरब जलालपुर मार्ग से पावरहाउस जाने वाली सड़क इतनी जर्जर हो चुकी है कि यह पता ही नही चलता कि सड़क है या कच्चा गलियारा । सड़क के दोनो ओर बने भट्ठे इसकी दुर्गति का मुख्य कारण है । बनने के बाद इस सड़क की मरम्मत शायद कभी हुई होगी - वह भी फाइलों मे । ऐसी सड़क को गड्ढामुक्त तो तब किया जायेगा जब सड़क कहीं दिखाई दे । संदना जाने के लिए यह सड़क मछरेहटा बाईपास के नाम से जानी जाती है । मछरेहटा कस्बे मे मुख्य मार्ग निर्माणाधीन होने की वजह से इस बाईपास का ही एक सहारा है जिससे आम आदमी और रामगढ़ फैक्ट्री जाने वाली गन्ने की ट्रालिया गुजरती है।   सड़क पर पैदल चलना भी कठिन है । लोगो ने प्रशासन से मांग की है कि खस्ताहाल सड़क को तत्काल दुरुस्त करवाया जाए ।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक