कोरोना की संभावित तीसरी लहर को देख किया पूर्वाभ्यास


 आवश्यक तैयारियों न बरती जाए लापरवाहीरू सीएमओ 

सीतापुर, । कोरोना की संभावित तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने भी अपनी आवश्यक तैयारियां तेज कर दी हैं। कोरोना संक्रमण रोकथाम की तैयारियां की समीक्षा के साथ-साथ रिहर्सल भी शुरू हो गया है। सोमवार तीन जनवरी के बाद आज चार जनवरी को भी विभाग अपनी तैयारियों और व्यवस्थाओं को परखने के लिए रिहर्सल करेगा। इस संबंध में प्रदेश शासन के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने एक पत्र जारी कर कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए सभी आवश्यक तैयारियों को पूरी करने के निर्देश दिए हैं। मौजूदा समय में कोरोना संक्रमण फिर से बढ़ रहा है। ओमीक्रोन की आशंका से भी इनकार नहीं किया जा सकता है। अन्य जगहों पर ओमीक्रोन के केस मिल रहे हैं। अब जनपद में संक्रमण के प्रबंधन की तैयारियों का प्रयोगात्मक विश्लेषण एवं फुल रिहर्सल के दौरान पाई जाने वाली कमियों को चिह्नित कर उनका निस्तारण होगा। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. मधु गैरोला ने बताया कि यह मॉकड्रिल की तरह ही यह रिहर्सल किया जा रहा है। इसमें व्यापक तरीके से चिकित्साधिकारियों तथा कर्मचारियों को पूरी तरह प्रशिक्षित किया गया है। उन्होंने बताया है कि यदि कहीं से कोविड पॉजिटिव की जानकारी मिलती है तो उसे किस तरह ट्रीट किया जाए, जहां मरीज को भर्ती रखना है वहां क्या इंतजाम होने हैं तथा क्या व्यवस्था होनी है इसको लेकर स्वास्थ्य कर्मियों, एम्बुलेंस के ईएमटी और पॉयलट को प्रशिक्षित किया जा रहा है। इस रिहर्सल में लगे सभी चिकित्सकों, स्वास्थ्य कर्मियों और एम्बुलेंस के लोगों को प्रशिक्षित किया जा रहा है। सीएमओ कार्यालय में एक बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें सीएमओ डॉ. मधु गैरोला ने चिकित्साधिकारियों और कोविड कमांड हॉस्पिटल के प्रभारी चिकित्साधिकारियों व सभी सीएचसी अधीक्षकों को निर्देश दिए कि कोविड की संभावित तीसर लहर को देखते हुए सभी अपनी आवश्यक तैयारियां पूरी रखे और इसमें किसी भी तरह की लापरवाही न बरती जाए। सीएमओ ने इस संबंध में शासकीय दिशा-निर्देशों की भी जानकारी दी। बैठक में एसीएमओ डॉ. एसके शाही, डॉ. पीके सिंह, डॉ. डीके सिंह, एल टू हॉस्पिटल खैराबाद के प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ. आरएस यादव सहित मिश्रिख, सिधौली, महोली और महमूदाबाद में बनाए गए पीकू वार्ड के प्रभारी चिकित्साधिकारी मौजूद रहे। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त निदेशक डॉ. नौशाबा खातून के निर्देशन में सोमवार को जिला अस्पताल में रिहर्सल किया गया। जिसमें कोविड के मरीज के भर्ती होने की स्थिति में ऑक्सीजन, स्वास्थ्य कर्मियों की उपलब्धता, उनके कार्य करने की क्षमता आदि की समीक्षा की गई।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक