संदिग्ध हालातो में घायल मिले युवक की इलाज के दौरान मौत


 27 दिसंबर को बहाने से बुला कर ले गया था दोस्त

हरदोई। घर से बहाने से बुला कर ले गए दोस्त ने अपने ही साथी के साथ दग़ा करते हुए उसे मौत की नींद सुला दिया। बात इस लिए काफी अहम है कि 15 वें दिन हुई मौत कई सवाल खड़े कर रही है। बताते चलें कि सुरसा थाने के सेमरा निवासी श्रवण कुमार का 23 वर्षीय पुत्र आनन्द कुमार शटरिंग का काम करता है। 27 दिसंबर की सुबह उसी का दोस्त गांव निवासी अमित पुत्र अशोक उसे बुलाने घर पहुंचा। पिता श्रवण कुमार ने बताया है कि उसी दिन 27 दिसंबर की शाम उसे पता चला कि हरदोई-बिलग्राम रोड पर मलिहामऊ गांव के बाहर आनन्द ज़ख़्मी हालत में पड़ा हुआ था। इसकी जानकारी होते ही आनन्द के घर वाले मौके पर पहुंचे। आनन-फानन में उसे पहले हरदोई मेडिकल कालेज ले जाया गया। जहां हालत बिगड़ने पर लखनऊ के लिए रिफर कर दिया गया। जहां सोमवार की रात उसने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। इस बारे में आनन्द के पिता श्रवण कुमार का आरोप है कि अमित ने बहाने से उसके पुत्र को बुला कर वारदात को अंजाम दिया। श्रवण कुमार का सीधा आरोप है कि अमित ने ही उसके बेटे की हत्या की। साथ ही श्रवण कुमार का कहना है कि अमित बहाने से उसके बेटे को बुला कर ले गया था। उधर लखनऊ के जानकार डाक्टरों का कहना है कि आनन्द के सिर में गहरी चोंट लगने से मौत हुई। फिलहाल पुलिस सारे मामले की जांच-पड़ताल कर रही है।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक