मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सी.एम.एस. छात्रों को दी उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं, सी.एम.एस. छात्रों को लगा कोविड टीका


 लखनऊ
, 3 जनवरी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज सिटी मोन्टेसरी स्कूल के छात्रों से मुलाकात कर उन्हें उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं देते हुए कोराना से सतर्क व जागरूक रहने का आह्वान किया। मौका था लखनऊ के सिविल हास्पिटल में 15 से 18 वर्ष उम्र के बच्चों के कोविड टीकाकरण के शुभारम्भ का, जहाँ आज पहले दिन सी.एम.एस. के 50 छात्रों ने कोविड टीका लगवाया। इस अवसर पर सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी भी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को अपने बीच पाकर छात्रों की खुशी की देखते ही बनती थी। छात्रों ने बड़े ही उत्साह से कोविड टीका लगवाया और कोरोना महामारी को जड़ से खत्म करने का संकल्प व्यक्त किया। सी.एम.एस. छात्रों का कहना था वे प्रशासन द्वारा जारी दिशा-निर्देशों व सावधानियों का पूरी तहर से पालन करेंगे और दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित करेंगे। विदित हो कि अभी हाल ही में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने बच्चों के लिए कोविड टीकाकरण की घोषणा की थी, जिसका आज से शुभारम्भ हुआ।

इस अवसर पर सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि हम मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के आभारी हैं जिन्होंने सी.एम.एस. छात्रों के बीच आकर उनका हौसला बढ़ाया।  बच्चों के टीकाकरण होने से अभिभावकों में भी नया उत्साह जागृत होगा और सभी को सामूहिक प्रयास से कोरोना महामारी को हराया जा सकता है। डा. गाँधी ने सभी अभिभावकों से पुरजोर अपील की कि वे अपने 15 से 18 वर्ष के बच्चों का टीकाकरण करायें एवं स्वयं भी कोरोना गाइडलाइन्स का हर हाल में पालन करें, जिससे की कोरोना की तीसरी लहर से बचा जा सके।

सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि सी.एम.एस. के सभी 15 से 18 वर्ष के छात्रों को प्रशासन की मदद से कोविड टीका लगवाया जायेगा। इसके लिए सी.एम.एस. के पाँच कैम्पसों सी.एम.एस. गोमती नगर (प्रथम कैम्पस), गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस), महानगर कैम्पस, अलीगंज (प्रथम कैम्पस) एवं कानपुर रोड कैम्पस में कल 4 जनवरी से कैम्प लगाये जायेंगे। 


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक