..तो क्या अब महोली बीडीओ हो जायेगे निलम्बित


 सीतापुर।
सूबे की योगी सरकार आवारा गोवंश के संरक्षण के लिए विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम चला रही है। मुख्यमंत्री योगी के द्वारा आवारा गोवंश के संरक्षण के लिए गौशाला, चारा, पानी इत्यादि की व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही हैं ।और सभी जिम्मेदार अधिकारियों को गौ संरक्षण एवं देखरेख के लिए आदेशित भी कर रहे हैं और कुछ जगहों पर इसका असर भी दिखाई दे रहा है। डीएम सीतापुर ने विगत दिवस बैठक कर सभी जिम्मेदार अधिकारियों को गौ संरक्षण व शीतलहर के दृष्टिगत सभी गौ आश्रय स्थलों पर अलाव , चारा , पानी , पर्याप्त शेड एवं चिकित्सा के पर्याप्त प्रबंधन सुनिश्चित कराए जाने के लिए निर्देशित किया साथ ही निर्माणाधीन गो आश्रय स्थलों के कार्यों को शीघ्रता पूर्वक पूर्ण कराए जाने के लिए भी आवश्यक आदेश दिए। गोवंश के प्रति डीएम एक्शन में दिख रहे हैं वहीं कुछ जिम्मेदार अधिकारी डीएम के आदेशों को दरकिनार कर धज्जियां उड़ाने पर आमादा है। आदर्श नगर पंचायत महोली में घूमते आवारा गोवंश इसका जीता जागता उदाहरण है। आवारा जानवरों के कारण जनता भी त्रस्त हो रही है। आवारा जानवरों के कारण आए दिन दुर्घटनाओं के प्रकरण प्रकाश में आते हैं जिसमें लोग अपनी जान तक गंवा बैठते हैं। आवारा जानवरों की मार से किसान भी अछूते नहीं हैं आवारा जानवर किसानों की फसलों को चर जाते हैं जिसके कारण किसानों को भारी नुकसान उठाना पड़ता है। एक तरफ जहां राहगीरों को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है वहीं दूसरी तरफ किसान भी आवारा जानवरों से परेशान हैं। मामले की गंभीरता को देखते हुए डीएम विशाल भारद्वाज के द्वारा सभी जिम्मेदार अधिकारियों को आदेश दिया है और साथ ही स्पष्ट आदेश खंड विकास अधिकारियों को दिए गए हैं कि जिस विकासखंड में आवारा गोवंश घूमते दिखेंगे तो लापरवाही करने वाले जिम्मेदार अधिकारी का निलंबन तक किया जा सकता है। इसके बावजूद भी सिस्टम में कहां पर लापरवाही की दीमक लगी है। इसका अभी तक पता तो नहीं चल सका है। लेकिन प्रशासन को इसका पता लगाना बेहद जरूरी है। तस्वीरों में साफ तौर पर देखा जा सकता है कि आदर्श नगर पंचायत महोली के भट्टा मोहल्ला में घूमते आवारा गोवंश अधिकारियों की दावों की पोल खोलने के लिए पर्याप्त साक्ष्य पेश कर रहे है स्थानीय प्रशासन तो इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है। जब तक जिला मुख्यालय स्तर के अधिकारी स्वयं मामले को गंभीरता से संज्ञान में नहीं लेंगे तब तक लापरवाही वाला यह सिलसिला यूं ही जारी रहेगा। लापरवाह अधिकारी यूं ही आदेशों की धज्जियां उड़ाते रहेंगे।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक