मवेशियों को गौशाला में छोडने गये किसानों पर ग्रामीणों ने बोला हमला


 हमले में प्रधान पुत्र व सचिव सहित दर्जनों किसान हुये घायल 

सूचना मिलने पर एएसपी व सीओ सहित भारी पुलिस बल मौके पर 

पाली हरदोई आधा दर्जन ट्रालियों में भरकर अन्ना मवेशियों को पुत्तू नगला की गौशाला में छोड़ना ग्राम बीरमपुर प्रधान पुत्र व पंचायत सचिव व दर्जनों ग्रामीणों को महंगा पड़ गया। लाठी डंडो से लैस होकर पुत्तू नगला के सैकड़ों ग्रामीणों ने हमला बोल दिया। हमले में पंचायत सचिव सहित कई लोग चोटिल हो गए। इसके अलावा हमलावरों ने प्रधान पुत्र की स्कार्पियो गाड़ी को पथराव कर क्षतिग्रस्त कर दिया। घटना की जानकारी मिलते ही पचदेवरा पुलिस व डायल 112 मौके पर पहुचं गई। सूचना मिलते ही सीओ शाहाबाद व अपर पुलिस अधीक्षक पश्चिमी ने भी मौके पर पंहुचकर जांच पड़ताल की। लेकिन जब तक हमलावर मौके से फरार हो चुके थे। फिलहाल प्रधान पुत्र की तहरीर पर पांच नामजद लोगों के अलावा कई अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर पुलिस जांच में जुट गई है। अन्ना मवेशियों के आतंक से परेशान होकर किसान अपनी फसलों को बचाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है। उसी क्रम में बीरमपुर के किसानों ने भी बुधवार को अन्न मवेशियों को पकड़कर गांव के ही स्कूल में बंद कर दिया था। खण्ड विकास अधिकारी अखिलेश सिंह के आश्वाशन पर किसानों ने अन्ना मवेशियों को पुत्तू नगला की गौशाला में छोड़ने को तैयार हुए। पंचायत सचिव विकास अग्निहोत्री के साथ प्रधान पुत्र कलक्टर दर्जनों ग्रामीणों के साथ अन्ना मवेशियों को 6 ट्रैक्टर-ट्रालियों में भरकर पत्तू नगला की गौशाला पहुचें। जैसे ही इसकी जानकारी पत्तू नगला के ग्रामीणों को हुई तो पत्तू नगला के सैकडों किसानों ने इसका विरोध किया। देखते ही देखते वहां के ग्रामीणों ने मवेशी छोड़ने गए लोगों पर लाठी-डंडों से हमला कर दिया। जिससे अफरातफरी का माहौल हो गया। हमले में प्रधान पुत्र व सचिव सहित कई लोग चोटिल हो गए। ग्रामीणों ने बीरमपुर प्रधान पुत्र की स्कार्पियो गाड़ी को भी छतिग्रस्त कर दिया। हमले की जानकारी के बाद पचदेवरा पुलिस के साथ ही डायल 112 मौके पर पहुचं गई। सीओ शाहाबाद विशाल यादव व अपर पुलिस अधीक्षक ने भी मौके पर पंहुचकर जानकारी ली। लेकिन तब तक हमलावर मौके से फरार हो चुके थे। बीरमपुर के प्रधान पुत्र कलक्टर ने बताया कि बीडीओ के निर्देश पर वह पंचायत सचिव के साथ पत्तू नगला की गौशाला में अन्ना मवेशियों को छोड़ने गए थे। उसी समय पुत्तू नगला के ग्रामीणों ने हमला कर दिया। उन्होंने बताया पंचायत सचिव के सिर में व अन्य कई लोग हमले में चोटिल हुए हैं। प्रधान पुत्र कलक्टर की तहरीर पर पुलिस ने पत्तू नगला के राजेश, बृजमोहन, अमित और जितेंद्र के अलावा कई अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज जांच में जुट गई है। वहीं घटना के बाद सभी अन्ना मवेशियों को भरखनी की गैहाई गौशाला भेज दिया गया है।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक