प्रत्येक ग्राम पंचायत में पशु बाड़ा अस्थायी रूप से तैयार कर सभी सुविधायें करायें पूरी-डीएम


 छुट्टा पशुओं की समस्या के निराकरण के लिए जनपद स्तर पर बनाई गई कार्ययोजना

हरदोई। डीएम अविनाश कुमार ने बताया है कि जनपद मे कुल 109 गौ सरंक्षण केन्द्रों मे 13 हजार और सहभागिता योजना के अन्तर्गत 3 हजार पशुओं को संरक्षित किया जा चुका है। इस प्रकार कुल 16 हजार पशुओं को संरक्षित किया गया है। इसके अलावा जहां से भी छुट्टा पशुओं की शिकायत आती है वहां एक टीम बनाकर उनकों पकड़कर सम्बन्धित गौ आश्रय स्थलों पर भेजा जाता है। मुख्य सचिव द्वारा निर्देश दिये गये है कि 10 दिन के अन्दर अभियान चलाकर छुट्टा पशुओं को पकड़कर गौ आश्रय स्थल पहुंचाया जाये, जिससे कोई भी छु्ट्टा पशु सड़कों पर ना दिखाई पड़े। इसके लिए जिला स्तर पर एक कार्य योजना बनायी गयी है जिसके अन्तर्गत प्रत्येक ग्राम पंचायत में एक 20 से 30 पशुओं का पशु बाड़ा अस्थायी रूप से तैयार कर लिया जाये जिसमे तिरपाल, चारा पानी तथा दवाओं आदि की पर्याप्त व्यवस्था हो। इसके अतिरिक्त वर्तमान मे क्रियाशील गौ आश्रय स्थलों मे 50 अतिरिक्त पशुओं के लिए टीन शेड तैयार कराये जा रहे है, जहाॅ पर ग्राम पंचायतों में संरक्षित पशुओं को शिफ्ट करा दिया जायेगा। इस प्रकार 10 दिन के अन्दर 5 हजार अतिरिक्त पशुओं को संरक्षित करने की कार्य योजना प्रशासन द्वारा तैयार करली गयी है। इसमे ग्रामीणों का पूरा सहयोग प्राप्त हो रहा है। पिछले दो तीन दिन के अन्दर लगभग 300 पशुओं को ग्रामीणों से प्राप्त सूचना के आधार पर संरक्षित किया जा चुका है। लोगों को इस सम्बन्ध मे अवगत कराने के लिए आज सम्बन्धित बीडीओं, सेक्रेटरी और ग्राम प्रधानों की बैठक करायी गयी तथा कल किसान संगठनों के साथ बैठक की जा रही है, जिसमे कार्य योजना के सम्बन्ध मे उनकों अवगत कराया जायेगा। जिलाधिकारी ने कहा कि किसानो के सहयोग से हम समस्या से निजात पा सकेगें। अतः इस अभियान में प्रशासन का सहयोग करे।    

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक