हाई अलर्ट के बाद भी कोविड-19 प्रोटोकॉल की उड़ती धज्जियां


 कोरोना से लड़ने के लिए कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन जरूरी

कहीं भारी ना पड़ जाए यह लापरवाही

सीतापुर। सीतापुर हाई अलर्ट पर होने के बावजूद नए साल के जश्न में कोविड-19 नियमों में लापरवाही खतरनाक साबित हो सकती है देश में लगातार ओमीक्रोन के केसों में लगातार बढ़ोतरी देखी जा रही है उसके साथ ही एक न्यूज एजेंसी के द्वारा चैंकने वाला खुलासा किया गया है देश में कुल 1431 ओमी क्रोन के मामले प्रकाश में आए हैं महाराष्ट्र वह दिल्ली में ओमी क्रोन के केसों की संख्या सबसे ज्यादा देखी गई है और इसमें लगातार बढ़ोतरी हो रही है कुछ राज्यों में कोरोना से बचाव के लिए  सेमी लॉकडाउन जैसी स्थिति हो चुकी है वही उत्तर प्रदेश में भी उम्मीद क्रोम के 8 मामले देखे गए हैं इसी क्रम में उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से सटे जनपद सीतापुर में कोरोना के नियमों को ताक पर रख जमकर उल्लंघन किया जा रहा है सार्वजनिक स्थानों पर 2 गज की दूरी का तो पालन नजर नहीं आ रहा है वही मास्क ना लगाने वाले व्यक्तियों की संख्या अधिक देखी जा सकती है देश में ओमीक्रान के मामलों में बढ़ोतरी डराने वाली है और उत्तर प्रदेश में ओमी क्रोन के मामले मिलने के बाद सरकार एक्शन मोड में आ गई है बीते दिवस योगी सरकार के द्वारा रात्रि कर्फ्यू का ऐलान किया गया है और जिम्मेदार अधिकारियों को कोविड-19 का सख्ती से पालन करवाने के लिए आदेश दिए गए हैं तो वही सीतापुर में इसका कोई असर नहीं दिख रहा है जिसकी हकीकत तस्वीरें बयां कर रही हैं कैमरा जो दिखता है वही दिखाता है कोविड-19 में लापरवाही जनता के लिए खतरनाक साबित हो सकती है यह जानते हुए भी सार्वजनिक स्थानों पर 2 गज की दूरी व मास्क पहनने में लापरवाही साफ साफ दिखाई दे रही है। नए साल के जश्न के लिए 31 दिसंबर की रात सीतापुर के कुछ प्रतिष्ठानों पर करीब 11ः00 बजे तक केक बेचे गए आलम यह था कि प्रतिष्ठानों को केक बेचने के लिए टोकेन का इस्तेमाल करना पड़ा। इस समय सीतापुर के जो हालत दिखाई दे रहे है वह कोई अच्छे संकेत नही दे रहे है क्योकि जब तक कोरोना को लेकर जागरूकता नही दिखाई जायेगी और लोग इसी तरह से मनमानी करते रहेगे तब तक कोरोना की मौत वाली काली छाया सीतापुर के सर पर मण्डराती रहेगी। 


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक