बावन को कुपोषण मुक्त बनाये- अनुपम पाण्डेय


 बावन। अति गंभीर कुपोषित (सैम) बच्चों की पहचान, उनके प्रबंधन और ऑनलाइन ट्रैकिंग के सम्बंध में आईसीडीएस विभाग की आंगनबाड़ी कार्यकर्त्रियों का नारायण बालिका डिग्री कॉलेज, बावन के सभागार में तकनीकी प्रशिक्षण दिया गया। कार्यक्रम में खण्ड परियोजना समन्वयक अनुपम पाण्डेय ने बताया कि यूनिसेफ एवं वल्र्ड विजन इंडिया के सहयोग से आयोजित इस प्रशिक्षण में सैम बच्चों की पहचान एवं प्रबंधन, मातृ एवं नवजात शिशु सम्बन्धी पोषण ट्रैकर एप पर सूचनाओं की फीडिंग कर सैम बच्चों का पंजीकरण अनिवार्य होगा। सैम बच्चों को स्क्रीनिग के बाद उनके बेहतर उपचार के लिए पोषण पुनर्वास केंद्र/एनआरसी रिफर करना व उनका प्रबंधन समुदाय स्तर पर भी किया जाएगा तथा  संदर्भित बच्चों की जानकारी ई- कवच एप पर भी दर्ज करनी हैं। साथ ही आँगनवाडी कार्यकर्ताओं ने बताया कि गर्भवती महिलाओं को प्रधानमंत्री मातृत्व वन्दना योजना का लाभ लाभार्थियों को नहीं पहुँच रहा है। ब्लॉक परियोजना समन्वयक अनुपम पाण्डेय ने सामान्य, अल्पवजन, नाटापन और अति गम्भीर कुपोषित बच्चों के बीच के अंतर को समझाया। वहीं ब्लॉक सह समन्वयक पुष्पा देवी ने पोषण ट्रैकर एप्प में आ रही समस्याओं की जानकारी दी। प्रभारी सीडीपीओ किरन देवी ने कहा कि प्रशिक्षण में दी गयी जानकारी का लाभ सभी आँगनबाड़ी अपने कार्य को और बेहतर बनाने में सहायक होगा।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक