डबल इंजन की सरकार हर व्यक्ति के जीवन में खुशहाली लाने का कर रही कार्य- सीएम योगी


 एक अरब रूपये से ऊपर  की परियोजनाओं से पटा लहरपुर क्षेत्र

सीतापुर । उत्तर प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने सोमवार को लहरपुर तहसील क्षेत्रान्तर्गत अकबरपुर ग्राम पंचायत स्थित सूरजकुंड मंदिर परिसर में आयोजित कार्यक्रम के दौरान 116 करोड़ रूपये से अधिक लागत की 83 परियोजनाओं का लोकार्पणध्शिलान्यास किया, जिसमें आवास विकास परिषद निर्माण खण्ड लखनऊ-10 की 10.21 करोड़ रूपये लागत की 1 परियोजना (राजकीय महिला महाविद्यालय, सीतापुर) का लोकार्पण, जिला पंचायत सीतापुर की 13.84 करोड़ रूपये लागत की 28 परियोजनाओं का लोकार्पण, जिला पंचायत सीतापुर की 3.51 करोड़ रूपये लागत की 24 परियोजनाओं का शिलान्यास एवं जल निगम (ग्रामीण) की 89.28 करोड़ रूपये लागत की 30 परियोजनाओं का शिलान्यास शामिल है। उन्होंने इस अवसर पर आयोजित एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि मा0 प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व एवं मार्गदर्शन में प्रदेश सरकार बिना भेदभाव के गरीबों के कल्याण के लिए निरन्तर कार्य कर रही है। सरकार ने जो कहा वह करके दिखाया है। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश सरकार ने भ्रष्टाचार, अपराध एवं अपराधियों के नियंत्रण के लिए जीरो टॉलरेन्स की नीति अपनायी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा विकास एवं आस्था को सम्मान देने के विभिन्न कार्य किए जा रहे हैं। भक्तों की भावनाओं के अनुरूप अयोध्या मे भव्य राम मंदिर का निर्माण कराया जा रहा है। धार्मिक स्थलों के विकास के साथ-साथ धार्मिक कार्यों को प्रोत्साहन भी देने का कार्य बिना किसी भेदभाव के निरन्तर किया जा रहा है। उन्होंने किसानों के लिये किये गये कार्यों के विषय में बताते हुये कहा कि गन्ना किसानों के गन्ना मूल्य का भुगतान समय से सुनिश्चित कराने के साथ ही सभी फसलों का उचित दाम किसानों को दिये जाने के लिये कार्य किये जा रहे हैं। पिछले साढ़े चार वर्षों में लगभग डेढ़ लाख करोड़ रूपये के गन्ना मूल्य का भुगतान किसानों को कराया गया है। गरीबों के लिये कल्याणकारी योजनाएं पूरे प्रदेश में बिना किसी भेदभाव के लागू की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि पहले उ0प्र0 के समक्ष पहचान का संकट था लेकिन डबल इंजन की सरकार के प्रयासों के चलते विकास के नित नए आयाम हासिल करने में प्रदेश सफल हो सका है एवं जनता को डबल लाभ मिल रहा है। उन्होंने कहा कि बिना किसी भेदभाव के पात्रों को सरकारी नौकरी मिल रही है। स्मार्ट फोन एवं टैबलेट के वितरण से न केवल युवाओं की शिक्षा का मार्ग आसान होगा बल्कि व तकनीकी रूप से सक्षम होकर नए कौशल सीखनें तथा प्रतियोगी परीक्षाओं की ऑनलाइन तैयारी में सहयोग मिलेगा। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश को परिवार मानते हुये सभी क्षेत्रों में बिना किसी भी भेदभाव के विकास किये जा रहे हैं।  मुख्यमंत्री ने कहा कि गांव के विकास के लिये, गरीब के उत्थान के लिये, नौजवान के रोजगार के लिये, महिलाओं के कल्याण के लिये, प्रदेश के समग्र विकास के लिये प्रदेश सरकार निरन्तर कार्य कर रही है। विगत करीब 05 वर्ष के दौरान अकेले जनपद सीतापुर में आवास योजना के तहत 02 लाख से अधिक परिवारों को एक-एक आवास उपलब्ध कराया गया है। 07 लाख से अधिक परिवारों को एक-एक शौचालय उपलब्ध कराया गया है। कोरोना महामारी के कठिन समय में गरीबों को निःशुल्क राशन के अतिरिक्त अच्छी गुणवत्ता की दाल एवं अन्य आवश्यक वस्तुओं का पूरी पारदर्शिता के साथ वितरण सुनिश्चित कराया गया है। बिजली की निर्बाध आपूर्ति भी सुनिश्चित की जा रही है। बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं जनता को उपलब्ध कराने के साथ-साथ प्रदेश सरकार बेहतर कानून व्यवस्था की स्थापना करने में सफल रही है। महिलाओं की सुरक्षा एवं सम्मान के लिये भी अनेक योजनाएं संचालित की गयी हैं। कार्यक्रम के दौरान केन्द्रीय राज्यमंत्री आवास एवं शहरी विकास कौशल किशोर, मंत्री प्राविधिक शिक्षा विभाग जितिन प्रसाद, सांसद सीतापुर राजेश वर्मा, सांसद मिश्रिख अशोक रावत, विधायक लरहपुर सुनील वर्मा, विधायक हरगांव सुरेश राही, विधायक मिश्रिख रामकृष्ण भार्गव, विधायक बिसवां महेन्द्र सिंह यादव, विधायक महोली शशांक त्रिवेदी, विधायक सेउता ज्ञान तिवारी, क्षेत्रीय महामंत्री भाजपा श्रीमती नीरज वर्मा, जिलाध्यक्ष भाजपा अचिन मेहरोत्रा, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती श्रद्धा सागर, प्रदेश महामंत्री भाजपा विजय बहादुर पाठक, सांसद राज्यसभा नीरज शेखर, सांसद राज्यसभा संजय सेठ, मण्डलायुक्त रंजन कुमार, जिलाधिकारी विशाल भारद्वाज, पुलिस अधीक्षक आर0पी0 सिंह, मुख्य विकास अधिकारी अक्षत वर्मा सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक