क्या भू- माफियाओं के आगे नतमस्तक हैं मिश्रित का तहसील प्रशासन ?

  


मिश्रिख सीतापुर
/क्या भू- माफियाओं के आगे नतमस्तक हैं मिश्रित का तहसील प्रशासन अगर नहीं तो इस तहसील क्षेत्र मे कई बार शिकायतें करने के बाद भी क्यों नहीं मिल पा रहा है,पीड़ितो को खेतौनी मे दर्ज अपनी जमीनों पर कब्जा-? प्रदेश शासन की प्राथमिकताओं में शामिल सम्पूर्ण समाधान दिवस, आई जी आर एस पोर्टल, सहित जिला व तहसील प्रशासन के जिम्मेदारों से पीड़ितों द्वारा कई बार शिकायते किये जाने के बावजूद भी उनकी समस्याओं का निदान नही हो पा रहा है,जिससे तहसील के जिम्मेदारो की कर्तव्य निष्ठा  कटघरे में खड़ी हो रही है,और फरियादी दर-दर भटकने को मजबूर हैं।मिली जानकरियो के मुताबिक मिश्रित तहसील क्षेत्र के बैकुण्ठापुर गाँव में दो सगे भाइयों की खेतौनी में दर्ज जमीन को दबंगो ने अवैध रूप से अपने कब्जे मे कर लिया हैं, और उसको नहीं छोड़ रहे हैं।पीड़ितो की फरियाद पर पुलिस बल की मौजूदगी में कई बार पैमाईश कराकर तहसील प्रशासन द्वारा मेड़ बन्दी करायी गयी लेकिन मौके से लेखपाल कानूनगों और पुलिस हटाने के बाद पीड़ितों को जान माल की धमकी देते हुये दबंग जमीन पर फिर जमा लेते हैं अपना कब्जा। प्रश्न उठता है कि क्या इन भू-माफियाओ को किसी प्रभाव शाली सफेद पोश का सरंक्षण प्राप्त है,जिसके दबाव मे असहाय बना हुआ है,तहसील प्रशासन और दोनो  भाई सन्तू तथा बृजलाल पुत्रगण अर्जुन असहाय होकर खेतोंनी मे दर्ज भूमि गाटा संख्या -226मि०रकबा0.162हे०भूमि को गांँव के  दबंग शिव पाल,आशा राम पुत्र गण राम सेवक,शिव राज पुत्र मथुरा,धन पाल पुत्र पुत्तू, राजू पुत्र आशा राम और रामू पुत्र चंद्रिका के कब्जे सेअपनी जमीन छुटवाये जाने के लिये फिर तहसील प्रशासन के चक्कर काटने लगते है।खेतौनी में दर्ज अपनी जमीन पर कब्जा पाने की दोनों भाई निरन्तर फरियाद करते घूम रहे है बीते शनिवार को तहसील मैं आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस में पीड़ितों ने पुनः प्रार्थना पत्र प्रस्तुत करके न्याय की गुहार लगाई है।  इसी तरह ग्राम किशुनपुर मजरा नरसिंघौली निवासी आलोक शुक्ला पुत्र स्व०लालजी प्रसाद शुक्ला अपनी बैनामा शुदा जमीन-भूमिगाटा संख्या1374मि०रकबा0.162हे०पर कब्जा पाने के लिये तहसील तथा जनपद के अधिकारियों सहित आइजीआरएस पोर्टल-थाना समाधान दिवस,तहसील सम्पूर्ण समाधान दिवस तक में प्रार्थना पत्र दे कर कई बार गुहार लगा चुका है, लेकिन गांँव के निवासी दलित दूसरी गाटा भूमि के मालिक कन्हैया लाल और राजाराम उसकी जमीन पर अवैध रूप से कब्जा करने के लिये अपने घरो की महिलाओं को आगे करके निरन्तर विवाद पैदा करने में लगे हुये हैं और पीड़ित  न्याय की फरियाद करता हुआ अधिकारियों के आगे चक्कर काटने पर मजबूर हो रहा है, फिर भी उसको नहीं मिल पा रहा है न्याय।इसीतरह मिश्रित के डाक बंँगला के पीछे स्थित भूमि गाटासं०354मे से रकबा0-०16हे०बैनामाशुदा भूमि पर कब्जा पाने के लिये पीड़ित महिला मीरा सिंह प्रशासनिक अधिकारियों को कई प्रार्थना पत्र देकर अपनी जमीन पर कब्जा दिलाने की निरन्तर फरियाद करती चली आ रही है,लेकिन क्षेत्रीय लेखपाल की दूषित नीतियों उसकी राह मे रोडा बनी हुई है दूसरे लोगोंने उसकी जमीन पर अपना कब्जा ही नहीं जमा रखा है बल्कि वहाँ लगी एक ट्राली बालू और दो डाला पत्थर की गिट्टी भी चोरी से गायब कर दी है।पीड़ित महिलाकीफरियाद निरन्तर बे असर बनी हुई है।आखिर उसको उसकी जमीन पर प्रशासन कब दिलायेगा कब्जा तहसील के जिम्मेदारों के सामने यक्ष प्रश्न बना हुआ है। भू-माफियाओं के विरुद्ध कार्यवाही किये जाने संबंधी प्रदेश शासन के निर्देश भी मिश्रित तहसील क्षेत्र में हवा हवाई ही साबित हो रहे है,जिससे शासन की छवि पर भी  विपरीत प्रभाव पड रहा है आखिर कार इस का जिम्मेदार कौन-?जनता के मध्य गम्भीर प्रश्न बना हुआ है। जिसकी तरफ जिला प्रशासन और प्रदेश शासन को प्रमुखता से पहल करने की जरुरत है ताकि पीड़ितो को मिल सके न्याय।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक