अलग अलग थाना क्षेत्रो में तीन लोगो ने फांसी लगाकर की आत्महत्या


 हरदोई।
अलग-अलग थाना क्षेत्रो में तीन लोगो ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने तीनो शवो को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। सुरसा थाने के सिकंदरपुर निवासी श्रीकृष्ण के 22 वर्षीय पुत्र श्यामा कुमार ने शुक्रवार की शाम घर से निकल कर गांव के दक्षिण नाले के किनारे एक पेड़ से लटक कर खुदकुशी कर ली। इसका पता तब हुआ जब गांव के कुछ लोग अपने जानवर चराने उधर पहुंचे। इस बारे में घर वाले कुछ भी नहीं बोल पा रहे हैं। बताया गया है कि श्यामा कुमार की शादी अभी छह महीने पहले इसी थाने के कमरौली गांव के केसरी लाल की बेटी सोहिनी के साथ हुई थी। श्यामा कुमार के इस कदम से सोहिनी की मांग का सिंदूर उजड़ गया। पुलिस मामले की जांच कर रही है। वही दूसरे मामले में बेहटा गोकुल थाने के मन्नापुरवा मजरा असगरपुर निवासी सत्यमान शुक्रवार की शाम अपने परिवार में होने वाली गोद भराई की रस्म में शामिल होने गया था। घर में उसकी 25 वर्षीय पत्नी सरिता अपनी दुध मुंही बच्ची के साथ अकेले थी। इसी बीच सत्यमान किसी काम से घर पहुंचा। जहां उसकी पत्नी कमरे के अंदर दुपट्टे से फांसी पर लटकी हुई मिली। इस तरह का माजरा देख कर सत्यमान चीख पड़ा। सरिता ने ऐसा कदम किस वजह से उठाया,इस बारे में उसके मायके वालों को भी नहीं पता। सरिता का मायका मझिला थाने के तारा गांव मजरा चठिया बताया गया है। उसके भाई सत्यप्रकाश का कहना है कि उसका किसी पर कोई आरोप नहीं है। वही तीसरा मामला मझिला थाने के ररी गांव निवासी 38 वर्षीय मुनेश कुमार पुत्र सुरेन्द्र राजगीरी का काम करता था। शुक्रवार की शाम अपने घर में अंगौछे से फांसी लगा ली। इसका पता ऐसे हुआ जब मुनेश की पत्नी हिंसती वहां पहुंची। घर वालों का कहना है कि मुनेश के इकलौती बेटी पूजा थी जिसकी उसने इसी साल शादी कर दी। पूजा की शादी के बाद से मुनेश पत्नी हिंसती के साथ हंसी- खुशी रहता रहा। शुक्रवार की शाम कुछ गुमसुम था, लेकिन किसी ने कोई खास ध्यान नहीं दिया। मुनेश ने किस बात से नाराज़ हो कर खुदकुशी कर ली ? इस सवाल का फिलहाल किसी के पास कोई जवाब नहीं है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक