युवक ने घर के अंदर फांसी लगाकर की आत्महत्या


 
हरदोई। अंधेरी ज़िंदगी में उजाला हो जाए। इसी चाहत में अपनी हस्ती को दांव

पर लगाते हुए इलाज कराया। लेकिन सारी कोशिशें बे-मतलब साबित हुई। इसी से
ऊब कर युवक ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। मामला सुरसा थाने के बंधिया
मजरा खजुरहरा का है। गांव निवासी 42 वर्षीय पंकज पुत्र धनीराम
खेती-किसानी से अपना परिवार पाल रहा था। इसी बीच उसकी दोनों आंखों की
रोशनी चली गई। उसने अंधेरी ज़िंदगी में उजाला लाने के लिए अपनी हस्ती को
दांव पर लगाते हुए काफी इलाज कराया। लेकिन सारी कोशिशें बे-मतलब साबित
हुई। घर वालों का कहना है कि पंकज थक कर चूर हो चुका था। वह बिल्कुल
अकेला रहने लगा था। सोमवार की शाम उसने घर के अंदर कमरे में रस्सी से
फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। उसकी पत्नी गुड़िया जब कमरे में गई,तो वहां
पति का शव लटका हुआ देख कर चिल्लाती हुई बाहर दौड़ी। तब घर वालों को इसका
पता चला। लोगों का कहना है कि पंकज किसी तरह अपने आठ वर्षीय पुत्र
मनमोहन, छह वर्षीय पुत्री शिवानी और चार वर्षीय पुत्री नव्यांशी की
परवरिश कर रहा था। उसके न रहने से घर वालों को रो-रो कर बुरा हाल हो गया
है। पुलिस ने शव कब्ज़े में ले कर उसका पोस्टमार्टम कराया है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक