लोगों को मुफ्त सेवायें उपलब्ध कराना ही कानूनी सेवा दिवस मनाने का उद्देश्य:अलका


 विधिक जागरूकता शिविर में लोगो को दी गई योजनाओं व कानून की जानकारी 

हरदोई। तहसील सदर विगत दिवस को राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली, उत्तर प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण लखनऊ के दिशा निर्देशन में तथा जनपद न्यायधीश व अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सुरेन्द्र सिंह-प्रथम के आदेशानुसार एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वाधान में 75वें आजादी के अमृत महोत्सव, विधिक सेवा दिवस के अवसर पर सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण हरदोई अलका पाण्डेय की अध्यक्षता में विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन तहसील सभागार सदर में किया गया। शिविर में उपस्थित लोगों को सालसा, नालसा व सरकार की कल्याणकारी योजनाओं तथा कानूनी सेवा दिवस के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए सचिव ने बताया कि 9 नवंबर को प्रत्येक वर्ष कानूनी सेवा दिवस मनाया जाता है। देश मे कानूनी साक्षरता शिविर और समारोह आयोजित किए जाते हैं ताकि समाज के कमजोर वर्गों के लोगों के लिए निःशुल्क, कुशल और कानूनी सेवाएं प्रदान की जा सकें और जागरुक भी किया जा सके। कानूनी सेवा दिवस मनाने का उद्देश्य है कि समाज के कमजोर वर्ग के लोगों को मुफ्त सेवाओं की उपलब्धता के साथ-साथ उनके अधिकारों के बारे में जागरूक करना है। तहसीलदार व सचिव डॉ0 प्रतीत त्रिपाठी द्वारा बताया गया कि कानूनी सेवा दिवस विधिक सेवा दिवस जो पहली बार सर्वाेच्च न्यायालय द्वारा वर्ष 1995 में शुरू किया गया ताकि निर्धन वर्ग को निःशुल्क कानूनी सेवा उपलब्ध करवाने तथा दिव्यांग जन, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति तथा मानव तस्करी के शिकार इत्यादि विभिन्न वर्गों को निःशुल्क कानूनी सहायता प्रदान करना है। जिला समन्वयक पल्लवी मिश्रा व महिला कल्याण अधिकारी प्रियंका पाण्डेय द्वारा कन्या सुमंगला योजना, निराश्रित पेशंन योजना, बाल सेवा योजना आदि की विस्तार पूर्वक जानकारी दी गई। नायब तहसीलदार सुश्री सुरभि राय,लेखपाल ज्ञान प्रकाश वर्मा, व श्रीपाल वर्मा, रवि शुक्ला, विनय कुमार बाजपेई, विनीत अवस्थी, ओम प्रकाश, मुस्तफा, लीगल एड क्लीनिक संचालक फरहान सागरी व पीएलवी धर्मनारायण दीक्षित, पीएलवी सुदीप पाण्डेय सहित अधिक संख्या मे  लोग उपस्थित रहे।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव