5000 पहले दो 15000 आवास आ जाए तब दे देना,प्रधान पति ने आवास लाभार्थियों से की अवैध वसूली ऑडियो हुआ वायरल

 


5000 पहले दो 15000 आवास आ जाए तब दे देना मेरे और सिक्रेटरी के

ब्लाक शाहाबाद की ग्राम पंचायत मिश्रीपुर का मामला

हरदोई। जनपद की ब्लाक शाहाबाद की ग्राम पंचायत मिश्रीपुर की ग्राम प्रधान के पति व प्रतिनिधि अजय कुमार राठौर ने अपनी दबंगई के बल पर अपने ग्राम सभा में गरीब एवं कमजोर और भूमिहीन एवं नेत्रहीन के पैसा ना मिलने की वजह से उनके आवास पात्रता सूची से न भेजकर वल्कि उनके कंप्यूटर से नाम ही गायब कर दिए गए जी हां या आपको सुनने में अटपटा जरूर लग रहा होगा आपको बता दें उक्त ग्राम सभा के लोगों ने लगभग 8 लोगों ने जिलाधिकारी हरदोई मुख्य विकास अधिकारी हरदोई एसडीएम शाहबाद ब्लाक शाहाबाद में कई प्रार्थना पत्र दिए और उसमें दर्शाया की श्रीमान जी जब आपके द्वारा पात्रता के आधार पर आवासों का आवंटन किया जाए तो हम लोगों को भी आवाज दिए जाएं जिससे मेरा और मेरे परिवार का रहने के लिए बंदोबस्त हो सके इससे पूर्व प्रधान और ग्राम सचिव ने हम लोगों के आवास पात्रता सूची के आधार पर सूची में डलवाए थे जो ऑनलाइन सो कर रहे थे प्रधान पति ने अपने एक व्यक्ति को हम लोगों के पास भेजा की प्रधान ने कुछ व्यवस्था करने के लिए कहा उसके बाद अगले दिन प्रधान जी का फोन आया और प्रधान जी ने कहा की चाचा हमने कुछ खबर भिजवाए थे क्या व्यवस्था की तो हमने कहा कि भैया हमने लड़की की शादी की और तमाम गांव का कर्जा है हम इस समय पैसा  की व्यवस्था नहीं कर सकते आपने तो ज्यादा मांग की है 1000; या 500 की बात होती तो किसी से ले देकर कर देता तो प्रधान ने कहा कि चाचा चुनाव में भी काफी पैसा खर्चा हुआ आप अपने हैं इसलिए मैं कह रहा हूं । आप 5000 हजार अभी कर दें शेष 15000 आवास आ जाए तब हमारे और सिगरेट री के दे देना हमने अपनी परेशानी बताई तो प्रधान ने यह भी चेतावनी दी किस शाम तक अगर रुपए आप लोगों ने ना दिए तो आप लोगों के नाम सूची से कट जाएंगे क्योंकि हमने बड़ी मुश्किल से ब्लॉक के अधिकारियों और जिले के अधिकारियों से एक दिन का मुश्किल से समय लिया है नहीं तो आप जिम्मेदार होंगे शिकायत कर्ताओं में मेनका पत्नी विनोद नेत्रहीन एवं भूमि रहे रामबेटी पत्नी सुंदरलाल हिना सती पत्नी कमलेश कुमार अनुराधा पत्नी प्रवेश कुमार गीता देवी पत्नी लज्जाराम लॉन्ग श्री पत्नी चंद्रपाल सोमवती पत्नी प्रकाश सरोजिनी पत्नी रजनीश कुमार आदि ने शिकायत की थी जिसमें से लॉन्ग श्री पत्नी चंद्रपाल को आवास दिया गया शेष लोगों को आवास विहीन कर दिया गया इतना ही नहीं प्रधान को मोटी रकम न मिलने से खुन्नस खाए प्रधान ने उक्त लोगों के नाम सूची से कटवा दिए।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक