जिला समाज कल्याण अधिकारी पर 25 हजार का लगाया जुर्माना


 उत्तर प्रदेश राज्य सूचना आयोग ने लगाया जुर्माना

हरदोई। जनसूचना अधिकार अधिनियम के तहत आवेदक अशोक भारतीय को सूचना न देना पूर्व जिला समाज कल्याण अधिकारी हर्ष मवार को मंहगा पड़ गया। इस मामले में राज्य सूचना आयुक्त ने पूर्व जिला समाज कल्याण अधिकारी पर 250 रुपये प्रतिदिन की दर से 25 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है। जिले के जन सूचना अधिकारी पूर्व समाज कल्याण अधिकारी हर्षमवार हरदोई से आरटीआई एक्टिविस्ट अशोक भारती ने समाज कल्याण विभाग में संचालित की जा रहीं समाज कल्याण विभाग द्वारा कराए जा रहे सामूहिक विवाह की नियमावली व 4 निम्न बिंदुओं योजनाओं के संबंध में 12 मार्च 2018 को जनसूचना अधिकार अधिनियम के माध्यम से सूचना मांगी थी। लेकिन आवेदक को निर्धारित समय सीमा के भीतर सूचना नहीं दी गई। इस मामले को लेकर आरटीआई एक्टिविस्ट अशोक भारती ने उत्तर प्रदेश सूचना आयोग में अपील करते हुए सूचना दिलाने की मांग की थी। राज्य सूचना आयुक्त की पीठ ने इस मामले में पूर्व जिला समाज कल्याण अधिकारी हर्षमवार को तलब किया तो वह उपस्थित नहीं हुए। इस पर राज्य सूचना आयुक्त ने पूर्व जिला समाज कल्याण अधिकारी हर्षमवार पर 250 रुपये प्रतिदिन से 25 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है। यह अर्थदंड उनके वेतन से पांच समान किस्तों में कराया जाना सुनिश्चित किया है।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक