मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने VVIP गेस्ट हाउस ‘नैमिषारण्य’ का किया उद्घाटन


 
लखनऊ,मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज राजधानी लखनऊ में बटलर पैलेस कॉलोनी में राज्य संपत्ति विभाग के VVIP गेस्ट हाउस ‘नैमिषारण्य’ का उद्घाटन किया। इस मौके पर सीएम ने कहा कि यह राज्य सरकार के लिए एक उपलब्धि है। अभी तक राज्य सरकार के मेहमानों को होटल में ठहराना पड़ता था पर अब उनके लिए अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त गेस्ट हाऊस उपलब्ध होगा।

इतना ही नही सीएम ने कहा कि अब राज्य सरकार को अपने अतिथियों को रुकवाने में किसी का मुंह नहीं देखना पड़ेगा। इसके साथ ही अब सरकार के धन की भी बड़ी बचत होगी। इस अतिथि गृह का नामकरण नैमिषारण्य करने के पीछे सीएम ने तर्क दिया कि इससे यहां आने वाले मेहमान पवित्र तीर्थ स्थल नैमिषारण्य जाने के लिए भी प्रेरित होंगे।



CM ने बताया नैमिषारण्य नाम रखने की कहानी

सीएम योगी आदित्यनाथ ने नैमिषारण्य शब्द का महत्व बताते हुए कहा कि यह नाम मां ललीता देवी से जुड़ा हुआ है। आगे उन्होंने कहा कि यूपी देश की आध्यात्मिक ऊर्जा का केंद्र है। पहचान के अनुरूप गेस्ट हाउस का नाम भी धर्म व संस्कृति से जुड़ा हुआ रखा गया है। इन नामों से प्रदेश को पहचान मिलती है। गेस्ट हाउस में धर्मिक स्थल की अनुभूति हो। यह जनप्रतिनिधियों के लिए एक उपलब्धि है। यहां नैमिषारण्य का चित्र भी लगाया जाना चाहिए। इस अतिथि गृह में सात मंजिला भवन में 73 कमरे बनाये गए हैं। प्रदेश में पहले से 9 अतिथि गृह संचालित हैं।

सीएम मे कहा कि किसी भवन या संपत्ति को खड़ा कर देना या बना देना बहुत महत्व की बात नहीं है जरूरी यह है कि उसका अच्छा रखरखाव किया जाए। उन्होंने राज्य संपत्ति विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया कि वह इस नवनिर्मित अति विशिष्ट अतिथि गृह के व्यवस्थित संचालन के लिए कार्य योजना बनाकर उसे आगे बढ़ाएं।

5 स्टार होटल से बेहतर है गेस्ट हाउस

इस मौके पर विधि एवं न्याय मंत्री ब्रजेश पाठक ने कहा कि अतिथि गृह को पांच सितारा होटल से बेहतर बनाया गया है। नैमिषारण्य का नाम देने का निर्णय अच्छा है। नैमिषारण्य से धर्म व संस्कृति का संदेश दुनिया में जाता है। हम प्रदेश को फिर ऐसी सरकार देंगे जिसे दुनिया देखेगी।

सरकार ने कुछ दिन पहले ही बदले है सभी अतिथि गृहों का नाम

दिल्ली में सरदार पटेल मार्ग पर स्थित उत्तर प्रदेश भवन नई दिल्ली का नाम उत्तर प्रदेश भवन ‘संगम’ नई दिल्ली किया गया है। इसी तरह चाणक्यपुरी स्थित उत्तर प्रदेश सदन नई दिल्ली का नाम उत्तर प्रदेश सदन ‘त्रिवेणी’ नई दिल्ली किया गया है। राज्यसंपति विभाग ने लखनऊ के भी अति विशिष्ट अतिथि गृह, लखनऊ का नाम अति विशिष्ट अतिथि गृह ‘साकेत’ लखनऊ करने का फैसला किया है। लखनऊ के विक्रमादित्य मार्ग पर बने राज्य अतिथि गृह नया नाम ‘गोमती’ कर दिया गया है। मीरा बाई मार्ग पर स्थित राज्य अतिथि गृह अब ‘सरयू’ नाम से जाना जाएगा। अति विशिष्ट अतिथि गृह, बटलर पैलेस का नया नाम ‘नैमिषारण्य’ किया गया है। इसके साथ साथ मुंबई स्थित राज्य अतिथि गृह वाशी मुम्बई का नाम ‘वृंदावन’ रखा गया है और कोलकाता स्थित राज्य अतिथि गृह का ‘गंगा’ नामकरण किया गया है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक