मनीष गुप्ता हत्या काण्ड : मीनाक्षी ने कानपुर विकास प्राधिकरण में OSD का कार्यभार संभाला, ज्वाइन करते ही फफक पड़ीं

 


गोरखपुर में पुलिस के हाथों मारे गए प्रॉपर्टी डीलर मनीष गुप्ता की पत्नी मीनाक्षी केडीए में ओएसडी का पदभार मंगलवार को संभाल लिया। पद ग्रहण करते ही मिनाक्षी फफक कर रो पड़ीं। विशेष कार्याधिकारी के रूप में उन्हें परिजनों के भरण-पोषण का सहारा तो मिल गया मगर गोरखपुर में पति के साथ पुलिस वालों की क्रूरता शायद ही कभी भूल पाएं। ज्वाइनिंग के बाद अपने चैंबर में जैसे ही कुर्सी पर बैठीं, मोबाइल पर पति की फोटो देख उनकी आंखों से आंसू आ गए। 

मीनाक्षी मंगलवार दोपहर 12 बजे टेम्पो से बेटे अभिराज, भाई सौरभ गुप्ता और चाचा ईश्वरचंद के साथ केडीए पहुंचीं। इससे पहले वह कभी केडीए नहीं आई थीं, ऐसे में जानकारी नहीं थी कि उपाध्यक्ष अरविंद सिंह का चैंबर किधर है। पोर्टिको में कर्मचारी से पूछने के बाद वह प्रथम तल पर पहुंचीं। वहां तैनात सेना के रिटायर जवानों से पूछा तो उन्होंने सलाम किया और वीसी के चैंबर तक पहुंचाया। वीसी ने उन्हें और परिजनों को आदर से बैठाया और सचिव शत्रोहन वैश्य, अपर सचिव डॉ. गुडाकेश शर्मा व अनु सचिव केसीएम सिंह को वहीं बुलाकर ज्वाइनिंग की प्रक्रिया पूरी कराई। मीनाक्षी  की जिंदगी में नए अध्याय की शुरुआत तो हो रही थी मगर वह चैंबर में 15 मिनट बैठने के बाद भी उदास ही रहीं। उपाध्यक्ष ने उनसे कहा कि शासन के निर्देश पर आपकी ज्वाइनिंग हो रही है। दुख की इस घड़ी में केडीए परिवार हर वक्त आपके साथ खड़ा मिलेगा। 


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव