हलाला के नाम पर मुस्लिम महिला का हुआ बलात्कार, योगी सरकार ने दिए जांच के आदेश

 


लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिला जालौन के कदौरा थानाक्षेत्र के गांव की एक महिला को तीन तलाक देने के बाद दो बार उसका जबरन हलाला कराये जाने के घिनौने कृत्य को गंभीरता से लेते हुए जबरन हलाला कराये जाने की जांच करा कर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई किए जाने की बात कही है।हलाला के नाम पर बलात्कार का शिकार हुई महिला न्याय के लिए भटक रही थी और पीड़िता ने मुख्यमंत्री पोर्टल पर शिकायत की थी। जलौन के पुलिस अधीक्षक पूरे मामले की जांच कर रहे हैं। 

मुख्यमंत्री कार्यालय ने मुस्लिम महिला के साथ हलाला के नाम पर बलात्कार किए जाने की शिकायत की गंभीरता को देखते हुए एसपी जालौन को कार्रवाई का आदेश दिया था। शिकायती पत्र के मुताबिक, पीड़िता की शादी कानपुर देहात के पुखरायां निवासी नसीम अली के साथ वर्ष 2014 में हुई थी। पति व ससुराल वाले दो लाख रुपये और बाइक की मांग को लेकर शारीरिक एवं मानसिक प्रताडऩा देने लगे। शादी के कुछ वर्षों बाद ससुराल पक्ष ने उसे घर से निकाल दिया तो वह मायके आ गई। कुछ दिन बाद पति ने पत्र भेजकर उसे तीन तलाक दे दिया। रिश्तेदारों के दबाव पर पति और उसके रिश्तेदार उसे अपने घर ले गए, जहां ससुर हबीब अली, सास जमीला ने जबरन मारपीट करते हुए उसका पहला हलाला नंदोई शाहिद अली निवासी आगरा व दूसरा एक और नंदोई राशिद अली निवासी फिरोजाबाद के साथ करा दिया। इसके बाद भी पति ने उसे फिर तलाक दे दिया और दूसरी शादी कर ली।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शिकायत को गंभीरता से लेते हुए एसपी जालौन को कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। एसपी ने कदौरा प्रभारी निरीक्षक को कार्रवाई कर रिपोर्ट मांगी है। कोतवाली प्रभारी रविन्द्र नाथ यादव ने बताया कि मामले की जांच शुरू कर दी है। आरोपितों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक