पत्रकार के साथ अभद्रता से क्षुब्ध होकर हजारों पत्रकारों ने मोहम्मदी में किया विशाल धरना

 


लखीमपुर (खीरी) 
विकास खण्ड अधिकारी पसगवां द्वारा पत्रकार से अभद्रता को लेकर ऑल इंडिया प्रेस जर्नलिस्ट एशोसिएशन (ऐप्जा) के चीफ कोआर्डिनेटर व ऐक्शन पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव अनुराग सारथी के नेतृत्व में पूर्व नियोजित धरना प्रदर्शन तहसील मुख्यालय मोहम्मदी में उपजिलाधिकारी आवास के सामने करते हुए विकास खण्ड अधिकारी के तबादले की मांग की गई।

       अधिकारियों द्वारा धरने को गम्भीरता से न लिए जाने के कारण ऐप्जा चीफ कोआर्डिनेटर अनुराग सारथी ने सैकड़ों पत्रकार व भारी संख्या में उपस्थित ऐक्शन पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ बरवर चौराहे पर चक्का जाम कर दिया। तेज धूप और भीषण गर्मी में करीब छः घण्टे तक हुए चक्का जाम के दौरान श्री सारथी की तबियत खराब हो गई। जिस पर उपजिलाधिकारी मोहम्मदी स्वाति शुक्ला ने डॉक्टरों के साथ मौके पर पहुंचकर उनका इलाज कराना चाहां तो उन्होंने इलाज करवाने से मना करते हुए पसगवां विकास खण्ड अधिकारी का तबादले करने की बात कही। उपजिलाधिकारी ने तबादले को अपने अधिकार क्षेत्र से बाहर बताया। करीब छः घण्टे तक प्रदर्शन करने के बाद कोई ठोस निर्णय न होते देख श्री सारथी अपने सैकड़ों साथियों सहित राष्ट्रीय राजमार्ग 24 जतनगंज पुल के पास जाकर जाम लगा दी। आस पास के गांवों से भी आकर जनता ने धरने को समर्थन देना शुरू कर दिया। कई किलोमीटर लंबी जाम लग गई, जिस पर मौजूद पुलिस व प्रशासन के हांथ पांव फूल गए। आनन फानन में मौके पर जिले के मुख्य विकास अधिकारी अनिल सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक अरुण कुमार सिंह प्रशासनिक अमले के साथ मौके पर पहुंचे और काफी देर तक समझाने बुझाने में लगे रहे किन्तु पत्रकार व क्षेत्र की जनता अपनी मांग पर डटी रही। जिस पर मुख्य विकास अधिकारी ने तीन सदस्यीय कमेटी द्वारा जांच व बीडीओ को जिला मुख्यालय से अटैच करने का आश्वासन दिया। तब आक्रोशित पत्रकारों व जनता ने जाम राष्ट्रीय राजमार्ग को खोला। ऐप्जा चीफ कोआर्डिनेटर अनुराग सारथी ने मुख्य विकास अधिकारी व उपस्थित लोगों के सामने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि प्रशासन अपनी बात से मुकरता है तो आगामी 31 अक्टूबर को लखीमपुर जिला मुख्यालय पर विशाल आंदोलन किया जाएगा।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव