क्राइम ब्रांच के सामने पेश हुआ मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा उर्फ मोनू।


लखीमपुर खीरी
लखीमपुर हिंसा के सातवे दिन मुख्य आरोपी और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र का बेटा आशीष क्राइम ब्रांच के सामने पेश हो गया। उसे क्राइम ब्रांच की ऑफिस में 11 बजे बुलाया गया था। लेेकिन वह सुबह 10:36 पर 24 मिनट पहले पहुंच गया। रुमाल से आशीष का मुंह ढका हुआ था। पुलिस उसे क्राइम ब्रांच के पिछले दरवाजे से भीतर ले गई। भारी भीड़ को देखते हुए पुलिस ने जगह-जगह बैरिकेडिंग लगा रखी थी। 
डीआईजी, एसपी, विजय ढुल मौके पर थे। गिरफ्तारी होगी या नहीं? इस सवाल का जवाब देने से हर अधिकारी बचता नजर आया। आशीष के साथ कौन आया है? इसकी जानकारी साझा नहीं की गई है। मंत्री पिता अजय मिश्र टेनी सुबह ही अपने कार्यालय पहुंच गए थे। वहां भी काफी गहमा-गहमी रही। लखीमपुर पुलिस ने शुक्रवार को मंत्री के घर पर दोबारा नोटिस चिपकाकर आशीष को शनिवार 11 बजे पूछताछ के लिए बुलाया था। इससे पहले पुलिस ने गुरुवार को नोटिस लगाकर शुक्रवार को 10 बजे पेश होने के लिए कहा था, लेकिन आशीष नहीं पहुंचा। बाद में आशीष ने एक चिट्‌ठी लिखकर बताया था कि वह बीमार है इसलिए 9 अक्टूबर को पुलिस के सामने पेश होगा।

इधर, पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिद्धू ने अपना मौन व्रत तोड़ दिया है। सिद्धू शुक्रवार को लखीमपुर पहुंचे थे। सिद्धू पहले हिंसा में मारे गए किसान लवप्रीत और फिर पत्रकार रमन के यहां पहुंचे। उन्होंने लिखकर कहा था कि जब तक केंद्रीय मंत्री का आरोपी बेटा गिरफ्तार नहीं कर लिया जाता, तब तक मौन धारण कर भूख हड़ताल पर बैठे रहेंगे। सिद्धू करीब 20 घंटे से मौन व्रत पर थे।

क्राइम ब्रांच के सामने आशीष मिश्रा, की हो रही पूछताछ।

प्राप्त जानकारी के अनुसार आशीष मिश्रा के द्वारा अपने पक्ष को रखने के लिए कई पेनड्राइव लाने की खबर थी।एसआईटी के द्वारा आशीष का मोबाइल फोन जब्त किया गया। ऐसा बताया जा रहा है कि मोबाइल मे घटना से जुड़े सबूत हो सकते हैं। पेन ड्राइव की संख्या लगभग 12 से अधिक बताई जा रही। वही आशीष मिश्रा अपने साथ 10 एफिडेविट लाने की खबर थी । आशीष मिश्रा से पूछताछ की वीडियोग्राफी हुई। आशीष मिश्रा से पूछे गए घटना से जुड़े कई सवाल। फिलहाल दिन भर कई अटकलें लगते रहे दिन के अंत तक आशीष मिश्रा उर्फ मोनू के 6 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार होने की खबरें भी सोशल मीडिया पर वायरल होती रही। और ऐसा बताया गया कि गिरफ्तारी के बाद आशीष की कोर्ट में पेशी की जाएगी वहीं मीडिया कर्मियों को रोकने के लिए सिक्योरिटी भी बढ़ाई गई। 


 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव