खेतो में फसल अवशेष व पराली जलाना है कानूनी अपराध-एडीएम


 केन्द्र पर विराट किसान मेला, गोष्ठी व प्रदर्शनी का हुआ आयोजन

हरदोई। उप निदेशक कृषि नन्द किशोर ने बताया है कि बुधवार को कृषि परीक्षण एवं प्रदर्शन केन्द्र बिलग्राम चुंगी, पर आयोजित कृषि सूचना तन्त्र के सुद्ढीकरण एवं कृषक जागरूकता कार्यक्रम के अन्तर्गत आयोजित विराट किसान मेला गोष्ठी, प्रदर्शनी, जनपद स्तरीय रबी उत्पादकता गोष्ठी का अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) वंदना त्रिवेदी की अध्यक्षता मे किया गया। अपर जिलाधिकारी द्वारा किसान मेला व कृषि प्रदर्शनी का उदघाटन करते हुये स्टालों का निरीक्षण किया गया और तद्पश्चात दीप प्रज्वलन कर कृषक गोष्ठी का शुभारम्भ किया। सर्वप्रथम उप कृषि निदेशक डाॅ0 नन्द किशोर के द्वारा मुख्य अतिथि एवं अन्य प्रतिभागी अधिकारियों तथा बड़ी संख्या मे प्रतिभाग करने वाले कृषको व मीडिया कर्मियों का स्वागत करते हुये रबी अभियान के अन्तर्गत कृषि उत्पादन मे वृद्वि के लिए अपनायी जाने वाली रणनीति तथा विभागीय योजनाओं के बारे मे विस्तार से जानकारी दी। इस अवसर पर मुख्य अतिथि एडीएम वंदना त्रिवेदी ने अपने सम्बोधन मे कृषकों से फसल अवशेष व पराली न जलाने की अपील करते हुये इसको दण्डनीय अपराध बताया तथा यह जानकारी भी दी कि पराली जलाने पर अर्थ दण्ड का प्राविधान है। किसान फसल अवशेष को बायो डिककम्पोजर का प्रयोग करते हुये अपने खेत मे ही जैविक उर्वरक स्वंय ही तैयार कर सकते है और यदि पराली ज्यादा हो तो निकटवर्ती गौशाला मे दो ट्राली पराली देकर एक ट्राली गोबर की खाद प्राप्त कर सकते है।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव