आपराधिक घटनाओं पर अंकुश नही लगा पा रही पचदेवरा पुलिस


 शाहाबाद 
हरदोईसीओ सर्किल में चोरी की घटनाएं थमने का नाम नही ले रही हैं। क्षेत्र के नेवादा गांव में चोरों ने एक पक्के मकान में सेंध लगा कर कमरे में रखे 20 हजार सहित सोने चांदी के जेवरों पर हाथ साफ कर दिया। रामशंकर पुत्र बनवारी निवासी नेवादा के घर रात में चोरों ने पक्की दीवाल में सेंध लगाकर लाखों के गहनों और नगदी पर हाथ साफ कर दिये। चोरों ने घर में रखे 20 हजार रुपए, एक जोड़ी सोने के झाले व एक जोड़ी कुंडल, एक मांग बिंदीकमर बिछुआ, मंगलसूत्र, पांव जेवरी और कीमती कपड़ों तथा पीतल के बर्तन को चोरी कर ली। घर वालों को घटना की जानकारी सुबह 5 बजे हुई तो सभी दंग रह गए।गुरुवार को पीड़ित ने घटना की जानकारी पुलिस को दी। उसी रात को नेवादा में ही गिरीशचंद्र पुत्र महादेव के यहा भी नकब लगा क़र चोरी करने का प्रयासकिया गया,लेकिन घर वालों के जाग पड़ने से चोर मकसद में सफल नही हो सके। पचदेवरा थाने से डायल 112 की गाड़ी आई थी और घटना की जानकारी करके चली गई। बताते चलें कि बीती 4 अगस्त को ग्राम नसीरपुर में चोरों ने एक घर में सेंध लगाकर कमरे में रखे लाखों के जेवरात और नगदी पर हाथ साफ किये थे। तीसरी चोरी की घटना 11 अगस्त ग्राम पंचायत हथोड़ा में चोरों ने 3 घरों को निशाना बनाते हुये धर्मपाल पुत्र कहेरी, मुन्नू पुत्र रघुवीर व नरेंद्र पुत्र रघुवीर के घरों में चोरों ने चोरी का प्रयास किया था लेकिन चोर घटना को अंजाम नही दे पाये। 26 जुलाई को दीपक कुमार पुत्र प्रेमपाल निवासी उवरीखेड़ा को बदमाशों ने अनंगपुर के पास मोबाइल और 15 सौ रुपए लूट लिए थे। 21 अगस्त की रात राम लखन पुत्र घनश्याम निवासी ग्राम आमतारा को सहुआपुर मोड़ पर बाइक सवार लुटेरों ने पेट में गोली मार कर और तमंचा लहराते हुए फरार हो गए थे। क्षेत्र में चोरी और लूट की बड़ी घटनाये होने के बाद भी पचदेवरा पुलिस किसी भी घटना का खुलासा नहीं कर पाई है। जिससे बेखौफ लुटेरे चोरी और लूट की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। क्षेत्र वासियों का कहना है कि थाने की बीट पुलिस की गश्त सिर्फ आमतारा के एक कारखाना तक ही सीमित है। क्योंकि यहाँ पर खानपान एवं बैठने उठने की सुविधा के साथ साथ कमाई का स्रोत भी है। इस बाबत एसओ पचदेवरा रमेश चन्द्र ने बताया कि रिपोर्ट दर्ज कर कार्यवाही की जा रही है।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक