गांवों में मानक विहीन बनवाये गये सामुदायिक शौचालय, हालत जर्जर


 गुणवत्ताविहीन निर्माण के कारण दरकी दीवार, उखड़ने लगे टाइल

शाहाबाद। स्वच्छ भारत मिशन 2020-21 के तहत ग्राम पंचायतों में सरकार ने सामुदायिक शौंचालय योजना लाई, लाखों रुपए ग्राम पंचायतों को बजट दिया गया। लेकिन घोटालेबाज जिम्मेदारों ने मानकविहीन, गुणवत्ताहीन निर्माण करते हुए योजना में जमकर लूट-खसोट की। नतीजा एक साल में ही दिखने लगा कि सामुदायिक शौंचालय की दीवार दरक गई व अंदर लगे टाइल उखड़ने लगे। ऐसा एक ही मामला नही है। शाहाबाद ब्लॉक की अन्य ग्राम पंचायतों में भी सामुदायिक शौंचालयों में गुणवत्ताहीन निर्माण किसी से छिपा नही है। कई ग्राम पंचायतों में तो लाखों की कीमत से बने सामुदायिक शौंचालयों में ग्रामीणों को शौंच जाने तक नही मिला। ऐसा ही गोलमाल का मामला शाहाबाद ब्लॉक की ग्राम पंचायत हँसेपुर लुकमानपुर में देखने को आया। प्रधान अजय कुमार, सचिव अमित अवस्थी,जेई रामअवध एवं बीडीओ ऋषिपाल के कार्यकाल में बना सामुदायिक शौंचालय की दीवार दरक गई एवं शौंचालय के अंदर लगे टाइल उखड़ने लगे। आखिर सवाल यह है कि आखिर ग्रामीण जनता के लिए सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना में जिम्मेदार गुणवत्ताहीन निर्माण कर गए। जिसका नतीजा आंखों के सामने है। आखिर क्यों जाँच नही होती, क्यों कार्यवाही नही होती, कैसे गुणवत्ताहीन निर्माण हो जाते। इसका सवाल तो जिम्मेदार ही जाने।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव