ग्रामीण क्षेत्र का पहला मल्टी स्पेशलिस्ट हॉस्पिटल शकुंतला चाइल्ड एंड जनरल हॉस्पिटल

 



प्रयागराज। 300 से अधिक ऑक्सीजन सिलेंडर व 100 सिलेंडर ऑक्सीजन की दैनिक क्षमता वाला ऑक्सीजन प्लांट उपलब्ध के साथ प्रयागराज- वाराणसी राजमार्ग पर हंडिया कस्बा स्थित शकुंतला चाइल्ड एंड जनरल हॉस्पिटल जो की ग्रामीण क्षेत्र का सुपर स्पेशलिस्ट हॉस्पिटल है। गुरुवार को श्री देव न्यूज की टीम के साथ भारतीय पत्रकार सुरक्षा संघ ट्रस्ट के संस्थापक इंजीनियर देवेश मिश्रा पहुंचे,  हॉस्पिटल के दौरे के दौरान कई ऐसे परिजन मिले जिनके पास बच्चों के इलाज के लिए पैसे नही थे वो बच्चों की जीने की उम्मीद छोड़ चुके थे, लेकिन उनके इलाज के खर्च में भारी छूट कर हॉस्पिटल प्रशासन ने दरियादिली की मिशाल पेश की है। हॉस्पिटल में 3 एनआईसीयू, 2 आईसीयू, एचडीओ व 100 वेल्टीलेटर है। शकुंतला चाइल्ड एंड जनरल हॉस्पिटल  के निर्देशक डॉक्टर एस. के. द्विवेदी ने सोमवार को अपने अस्पताल में बैठे कर ओपीडी कर रहे थे की उसी समय हंडिया कोतवाली क्षेत्र के एक किसान अपनी पत्नी व सात साल के बच्चे को लेकर पहुंच कर पहुंचा और ओपीडी में ही भभक पड़ा और कहा की आपके बदौलत हमारे बच्चे की जान बच सकी, हम सब थक हार कर आपके पास आए थे। उक्त मामले पर बात करने पर पता चला कि कोरोना काल में जहाँ कोई चिकत्सक मरीजों को भर्ती करने से इतराते थे और वहीं भर्ती होने के बाद मुंह मांगी रकम लिया करते थे, वही डॉक्टर एस के द्रीवेदी ने अपनी निर्धारित फीस को भी छोड़ कर मरीजों का इलाज करते रहे, जिसके कारण कई ऐसे लोगो की जान बच सकी। वहीं जितेंद्र सिंह ने बताया कि मेरी बेटी बिलकुल भी बोल नहीं पा रही थे सब परिवार बेटी के जीवन की आस छोड़ चुके थे, उस समय मेरी बेटी की जान बचा कर हमारे जीवन में खुशियों के रंग भर दिया। वही डॉक्टर एस के द्विवेदी ने बताया कि कोरोना काल में 20 फीसद से अधिक मरीजों का जो हॉस्पिटल के खर्च नहीं भर सकते थे उनका निःशुल्क इलाज किया गया। हॉस्पिटल में कभी भी ऑक्सीजन की कमी नहीं हुई, तीसरी लहर को ध्यान में रखते हुए हॉस्पिटल परिसर में ही 100 सिलेंडर की क्षमता वाला ऑक्सीजन प्लांट भी लगाया गया है। इसी के साथ डॉक्टर एस के द्विवेदी ने लोगो को कोराेना से सचेत रहने की बात कहते हुए कहा की जैसे ही किसी को खासी बुखार, बलगम, चक्कर, आना आदि लक्षण दिखे वैसे ही किसी कुशल चिकित्सक की सलाह लेते हुए दवाएं ले, मास्क लगाए रखे और हाथों की सफाई समय समय पर करते रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव