डीबीटी के विरोध में लामबंद हुए शिक्षक, जूनियर शिक्षक संघ बावन इकाई ने दिया ज्ञापन

 


बावन हरदोई,।
परिषदीय विद्यालयों में अध्ययन रत छात्रों के खातों में धनराशि प्रेषण के लिए डीबीटी प्रक्रिया का विरोध करते हुए उत्तर प्रदेशीय जूनियर हाईस्कूल शिक्षक संघ की बावन इकाई द्वारा शुक्रवार को खंड शिक्षा अधिकारी के माध्यम से एक ज्ञापन महानिदेशक को भेजा। शिक्षकों की समस्याएं बताते हुए जिला कोषाध्यक्ष एवं ब्लॉक अध्यक्ष उदय शंकर मिश्र ने कहा कि विभागीय किसी भी कार्य के लिए विभाग द्वारा कोई भी संसाधन जैसे एंड्राएड फोन या लैपटॉप, मोबाइल सिम, नेट की सुविधा अभी तक नहीं उपलब्ध कराई गई है कोई भी सुविधा उपलब्ध न कराते हुए भी जबरदस्ती दण्डात्मक कार्यवाही का भय दिखाकर नियमों के विरूद्ध जाकर बेसिक शिक्षकों के बच्चों व परिवार के अधिकार वाले वेतन से गैर कानूनी ढंग से खर्च कराने के लिए बाध्य किया जा रहा है जो कि एक अन्याय है, जो किसी भी स्थिति में स्वीकार नहीं है। उक्त कार्य लिपिकीय दायित्व का है परन्तु शिक्षकों से कराया जा रहा है, जो उचित नहीं है। डेटा फीडिंग जैसे कार्य के लिए शिक्षकों को लगाया जाना अनिवार्य शिक्षा अधिनियम 2011 के नियम 7 का उल्लंघन है। प्रदेश भर के प्रत्येक ब्लाक संशोधन केन्द्रों को बड़ा बजट देकर सुदृढ़ीकरण कायाकल्प किया गया है और सभी सुविधाओं से आच्छादित किया है। प्रत्येक केन्द्र पर कई-कई कम्प्यूटर, लैपटॉप तथा तीन चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी जिन्हें कम्प्यूटर में दक्ष किया गया है। साथ ही दो कम्प्यूटर आपरेटर संविदा पर पूर्व से ही कार्य कर रहे हैं, उनसे यह कार्य कराया जाए। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से पुनीत मिश्र, धीरज मिश्र, आशीष मिश्र, विवेक श्रीवास्तव, मनीष बाजपेई, ब्रजेन्द्र पाल, प्रवीण सिंह, संजीव कुमार सिंह, हरिहर सिंह, आशीष कुमार, सौरभ दीक्षित, अनूप सिंह, अभिषेक गुप्ता, मनीष चैहान, सौरभ तिवारी, अंशुमान चैहान, विद्यानिधि मिश्र, अरुण बाजपेई, श्याम जी गुप्ता, अमित शुक्ल, विजय पाल तोमर, अंशुल मिश्र, राजकिशोर, प्रतिभा वर्मा , अंजना खरे, अंजू राठौर, रश्मि शुक्ल सहित अनेको शिक्षक शिक्षाकाये उपस्थिति रहे।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव