शहीद का बलिदान सदैव याद रखा जायेगा-डीएम मुख्यमन्त्री ने शहीद हवलदार को दी भावभीनी श्रद्वांजलि


 राजकीय सम्मान के साथ मेंहदी घाट पर हुआ अन्तिम संस्कार 

हरदोई। लेह मे शहीद हुये बिलग्राम तहसील क्षेत्र के बेहटी खुर्द गांव निवासी हवलदार सत्यम पाठक का अन्तिम संस्कार मेहदी घाट पर पूरे राजकीय सम्मान के साथ किया गया। उनके अन्तिम यात्रा में जनसैलाब उमड़ पड़ा। हर कोई शहीद की अन्तिम यात्रा के दर्शन के लिए बेचैन था। इस दौरान डीएम अविनाश कुमार व जिले के एसपी उपस्थित रहे। इस मौके पर डीएम ने परिवार के सदस्यों को सांत्वना दी। उन्होने कहा कि श्री पाठक ने अपने कर्तव्यों का बखूबी निर्वाहन किया है। शहीद का बलिदान सदैव याद रखा जायेगा। शासन की ओर से सैनिक के परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जायेगी व जनपद की एक सड़क का नाम दिवंगत सैनिक श्री सत्यम पाठक के नाम पर किया जायेगा। वही सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शहीद हुये हवलदार को भावभीनी श्रद्वांजलि दी। मुख्यमन्त्री ने दिवंगत सैनिक के परिजनों को 50 लाख रूपए की आर्थिक सहायता व परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने तथा जनपद की एक सड़क का नामकरण दिवंगत सैनिक श्री सत्यम कुमार पाठक के नाम करने की घोषणा की है। उन्होने ने दिवंगत सैनिक के परिजनों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए कहा है कि शोक की इस घड़ी में राज्य सरकार उनके साथ है और प्रदेश सरकार द्वारा दिवंगत सैनिक के परिवार को हर सम्भव मदद प्रदान की जायेगी।

-शहीद के परिजनो को विधायक ने प्रदान की पचास लाख की चेक 

बिलग्राम क्षेत्र के बेहटी गांव निवासी शहीद सेना के जवान लांस नायक सत्यम पाठक कि राजौरी में ड्यूटी के दौरान ह्र्दय गति रुकने से मृत्यु हो गई थी। जिसके बाद उनके पार्थिव शरीर को सोमवार को उनके गांव लाया गया जहां भारत माता की जय कारों के साथ शहीद को अंतिम विदाई देने के लिए जन समुदाय उमड़ा, शहीद का अंतिम संस्कार मेहँदीघाट पर सरकारी तरीके से किया गया।  इस दौरान क्षेत्रीय विधायक आशीष सिंह आशु ने शहीद जवान लांस नायक के पिता को 50 लाख का चैक एक सरकारी नौकरी का घोषणा की।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव