पटाखा रहित दीवाली मनायेंगे सी.एम.एस. के 55,000 छात्र

 


सी.एम.एस. छात्रों का ‘
शुभ दीपावली, अशुभ पटाखा मार्च’ 1 नवम्बर को

लखनऊ, 23 अक्टूबर। सिटी मोन्टेसरी स्कूल के सभी 18 कैम्पसों के 55,000 छात्रों ने विगत वर्षों की भाँति इस वर्ष भी ‘पटाखा रहित दीवाली’ मनाने का संकल्प लिया है। इसी कड़ी में जनजागरण हेतु सी.एम.एस. छात्र आगामी 1 नवम्बर, सोमवार को ‘शुभ दीपावली, अशुभ पटाखा मार्च’ निकाल रहे हैं, जिसका उद्देश्य पटाखों से होने वाली जान-माल की हानियों एवं प्रदूषण के प्रति जन-मानस में खासकर किशोरों व युवाओं में जागरूकता उत्पन्न करना है। उक्त जानकारी सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने दी है। श्री शर्मा ने बताया कि सी.एम.एस. छात्रों का ‘शुभ दीपावली, अशुभ पटाखा मार्च’ आगामी 1 नवम्बर, सोमवार को प्रातः 8.00 बजे सी.एम.एस. प्रधान कार्यालय, 12 स्टेशन रोड से प्रारम्भ होकर जी.पी.ओ. पार्क (गांधी प्रतिमा स्थल), हजरतगंज पहुँचकर एक विशाल सभा के रूप में परिवर्तित हो जायेगी, जहाँ सी.एम.एस. छात्र व विद्यालय के संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी अपने सारगर्भित विचारों से सभी को ‘पटाखा रहित दीवाली’ मनाने की पुरजोर अपील करेंगे।

श्री शर्मा ने बताया कि इस विशाल मार्च के माध्यम से सी.एम.एस. छात्र ‘शुभ दीपावली, अशुभ पटाखा’ का उद्घोष कर समस्त देशवासियों खासकर स्कूली बच्चों से अपील करेंगे कि वे देश हित में, समाज हित में, पर्यावरण के हित में एवं स्वयं खुद के जानमाल के हित में पटाखा रहित दीवाली मनाएं और बुराई से अच्छाई की ओर अग्रसर हो। श्री शर्मा ने बताया कि सी.एम.एस. छात्र विगत कई वर्षों से पटाखा रहित दीवाली की मुहिम चलाए हुए हैं तथा पटाखों से होने वाले प्रदूषण के बारे में लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से सभी संभव प्रयास कर रहे हैं। सी.एम.एस. के छात्र इस बात को महसूस करते हैं कि पटाखों के कारण प्रतिवर्ष हजारों बच्चे दुर्घटनाग्रस्त हो जाते हैं। भारी मात्रा में पटाखों को जलाने के परिणामस्वरूप अनेक प्रकार की जहरीली गैसें वायुमण्डल को बुरी तरह प्रदूषित करती हैं। सी.एम.एस. का मानना है कि ‘पटाखा रहित दीपावली’, पटाखों व प्रदूषण वाली दीवाली से हजारों-लाखों गुना अच्छी है, जिसे सभी को अमल में लाना चाहिए।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक