सचिव ने पाला मंुशी प्रधानमंत्री आवास पाने की कीमत रखी दी बीस हजार

 


जिससे विकास खंड पहला में भृषठाचार चर्म पर जिम्मेदार मौन

आखिर विभागीय अधिकारी इस ओर क्यो नही दे रहे ध्यान

सीतापुर। ग्रामसभा स्तर पर तैनात सचिव अब किसी बेताजबादशाह से कम नही हैं। यह सचिव जनता की गाढ़ी कमाई को लूट रहे है और बादशाही करके अपना कार्य करने के लिये मंुशी लगा लिया हैं। अब यह मुशी योजनाओं में कमीशनबाजी व योजना दिलवाने का सौदा कर रहा है। मुंशी ने रेट फिक्स कर दिये है जो व्यक्ति बीस हजार रूपये देगा पात्र हो या अपात्र उसको आवास आवंटित कर दिया जायेगा। वैसे लिखा  पढी में यहां पर बतौर सचिव के अनुरूद्ध कुमार वर्मा तैनात है लेकिन उनका सारा कार्य अजय नाम का युवक देख रहा है। अब सवाल यह भी है कि जब अजय ग्रामसभामें तैनात नही है तो वह वसूली और कार्य क्येा देख रहा है। मामला विकास खंड पहला के अंतर्गत राजस्व गांव सलौना बीबीपुर का है। यहंा पर योजनाओं को दीमक की तरह चाटा जा रहा हैं गौतलब यह भी है कि ग्राम विकास अधिकारी अनुरुद्ध कुमार वर्मा व उनके समस्त विकास कार्यों की देखरेख करने वाले अजय वर्मा के द्वारा राजेश कुमार पुत्र प्यारे लाल से आवास हेतु 20000हजार रूपये की मांग की गई मांग पूरी न कर पाने के कारण पात्र राजेश कुमार को अपात्र दिखा दिया जाता है जब की अपने पिता से अलग रहकर तिरपाल युक्त मड़ैया में परिवार के साथ मजदूरी कर के जीवन निर्वाह किया जा रहा है वहीं दुसरी और अपात्रों को आवास दिया गया है जैसा कि प्रकाश में आया है चंद्र प्रकाश, कौशल, शुशील आदि अपात्रों को आवास दिया गया जबकि संजय पुत्र प्रेम सागर व राजेश पुत्र प्यारे लाल को पात्र होते हुए भी 20000 रूपये ना दे पाने के कारण अपात्र दिखाया जा रहा है जिसकी तिरपाल युक्त तिनकों का आसियाना दिखा रहे हैं


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव