पत्रकार ने कटीले तारों में फंसी दुधमुंही बच्ची को बचाया

 


मछरेहटा/सीतापुर अमर उजाला पत्रकार मछरेहटा योगेश शुक्ल शाम 6 बजे  न्यूज़ कवरेज करने मछरेहटा कस्बे जा रहे थे ।तभी उनके साथी पत्रकार सत्य प्रकाश की नजर एक दुधमुंही बच्चीपर पड़ी  जो तारो में फसी थी ।पत्रकार योगश शुक्ल ने फौरन गाड़ी रोक कर रेस्क्यू करने दौड़े ।और बच्ची को सुरक्षित कटीले तारो से निकाला ।बताते चले कि अमर उजाला पत्रकार योगेश शुक्ला न्यूज़ कवर करने हेतु कस्बा मछरेहटा जा रहे थे तभी रास्ते मे मनोज किराना स्टोर के सामने खेत मे लगे कटीले तारो में फसी एक दुधमुंही बच्ची की आवाज सुनाई दी ।साथी पत्रकार सत्य प्रकाश अवस्थी की नजर कटीले तारो में फसी बच्ची पर पड़ी ।कटीले तारो में फसी बच्ची को देखकर आनन फ़ानन में पत्रकार योगेश शुक्ला दौड़े ।बच्ची की गर्दन उन कटीले तारो में फस गयी थी ।ऐसे में तत्काल रेस्क्यू करके योगेश शुक्ला द्वारा बच्ची को बचाया गया ।पता करने पर मछरेहटा निवासी सुनील की बेटी खेलते खेलते कटीले तारो में जा फसी करीब आधा घंटा फसी रहने के बाद बच्ची ने चिल्लाना शुरू कर दिया ।तभी राह से गुजरते हुए योगेश शुक्ला अमर उजाला पत्रकार व साथी पत्रकार सत्य प्रकाश अवस्थी की नजर पड़ी तो बच्ची को कटने से बचाया ।कटीले तारो की वजह से गौ वंश जो कि इन दिनों चारो तरफ घूम रहे है वो खेतो में चरने के बजाए बस्ती में घूम रहे है क्योंकि अब जानवरो को भी प्रतीत होने लगा है कि बाहर जीवन सुरक्षित नही ।आज शत प्रतिशत गौ वंश इन कटीले ब्लेड युक्त तारों से कटे हुए अपनी जीवन लीला समाप्त कर लेते है ।ब्लेड के तारों पर प्रतिबंध सिर्फ औ सिर्फ कागजों पर दिखता है ।हर रोज कोई न कोई इन ब्लेड युक्त कटीले तारो से कटता है फिर भी प्रशाशन का ध्यान इस ओर नही है ।आज एक बच्ची को बचाया गया न जाने कितने लाखो बच्चे व लोग इन कटीले तारो का शिकार हो चुके है अब देखना यह कि प्रशाशन इस पर क्या कार्यवाही करता है ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव