मायावती ने त्रिशूल लहराकर ब्राम्हणो का जताया सपोर्ट ,फिर बोली इस बार मूर्तियां और संग्रहालय बनाने में ताकत नहीं खपाएंगे:


लखनऊ
,मायावती ने मंगलवार को लखनऊ में प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के अभियान की शुरूआत कर दी। मायावती ने स्पष्ट कर दिया कि चुनावी अभियान के केंद्र में ब्राह्मण ही होंगे। उन्होंने मंच से त्रिशूल लहराकर कहा कि हर विधानसभा में पार्टी 1000 ब्राह्मण कार्यकर्ता बनाएगी। ब्राह्मण और सभी वर्गों के लोग 2007 की तरह पूर्ण बहुमत की सरकार बनाएंगे।

मायावती का BJP पर तंज- भाभियों को लेकर घूमने से सरकार नहीं बनेगी

मायावती ने कहा- अगर अगले चुनाव में BSP की जीत होती है तो इस बार फोकस प्रदेश की नई तस्वीर बनाने पर रहेगा, मूर्तियां और संग्रहालय बनाने पर नहीं। मायावती ने BJP पर भी निशाना साधा। कहा- ये लोग एक भाभी जी को लेकर घूम रहे हैं, जो भाजपा के लिए माहौल बना रहीं हैं। भाजपा चाहे जितनी भाभियों को लेकर घूम ले, लेकिन उनकी सरकार नहीं बनने वाली। हमने दलित आदिवासी समाज के संतों और गुरुओं को सम्मान दिया। दूसरे वर्गों के लोग चाहते हैं कि उनके संतों और गुरुओं को सम्मान दिया जाए तो उन्हें भी दिया जाएगा।

UP विधानसभा चुनाव में इन मुद्दों पर होगा BSP का फोकस

विकास: मायावती ने कहा कि इस बार जब हमारी सरकार बनेगी तो मेरी ताकत मूर्तियां और संग्रहालय बनाने में नहीं लगेगी, बल्कि उत्तर प्रदेश की तस्वीर बदलने में लगेगी।

गरीब-मजदूर: उन्होंने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में सपा और भाजपा की सरकारों ने संपूर्ण रूढ़िवादी सोच के चलते सर्व समाज से गरीबों, मजदूरों, कर्मचारियों, किसानों, छोटे व्यापारियों, दलितों, पिछड़ों और वंचितों का उत्पीड़न किया। हम सभी का ध्यान रखेंगे।

ब्राह्मण: वे बोलीं कि भाजपा सरकार में ब्राह्मण समाज के लोगों का खूब उत्पीड़न हुआ। हमने सरकार बनने पर ब्राह्मण समाज के लोगों का मंत्रिमंडल में भी सम्मानजनक स्थान दिया। मैं ब्राह्मण समाज से वादा करती हूं कि सरकार बनने पर ब्राह्मण समाज की सुरक्षा, सम्मान का पूरा ध्यान रखा जाएगा।

ब्राह्मण बेस्ड चुनावी तैयारी: उन्होंने कहा कि पहले चरण में सतीश चंद्र मिश्रा ने ब्राह्मण वर्ग को सफलतापूर्वक जोड़ने का काम किया। दूसरे चरण में छोटे शहरों और गांवों में युद्ध स्तर पर लोगों को BSP से जोड़ने का अभियान चलाया जाएगा। हर विधानसभा में ब्राह्मण समाज के 1000 कार्यकर्ताओं को तैयार करना है। इस बार प्रबुद्ध वर्ग की महिलाओं को भी पार्टी के साथ जोड़ने का काम होगा। BSP में ब्राह्मणोंकी भागीदारी ने विरोधी पार्टियों को चिंतित किया है। इनके अत्याचार से परेशान लोगों ने हमारी पार्टी का साथ देने का फैसला किया है।

किसानों के मुद्दे पर भाजपा-सपा को घेरा
मायावती ने कहा- भाजपा सरकार में किसानों की आय दोगुनी तो नहीं हुई, लेकिन तीन काले कृषि कानून लाकर उन पर अत्याचार जरूर किया गया। किसानों के साथ बहुजन समाज पार्टी संसद से सड़क तक साथ खड़ी है। 500 से ज्यादा किसानों की जान चली गई, लेकिन उनकी सुध लेने वाला नहीं है। हरियाणा सरकार ने अत्याचार करते हुए किसानों पर लाठीचार्ज किया। बसपा सरकार में गन्ने का मूल्य 125 रुपए प्रति क्विंटल से बढ़ाकर 250 रुपए प्रति क्विंटल किया गया था। सपा सरकार ने अपने 5 साल के कार्यकाल में केवल एक बार ही गन्ने का मूल्य बढ़ाया।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव