होती रही तालिबान पर चर्चा, पाकिस्तान से ट्रेनिंग लेकर भारत आ गया ओसामा


सम्पूर्ण विश्व में आतंक के नाम पर इस समय केवल तालिबान-तालिबान ही चर्चा में है। अफगानिस्तान से अमेरिका की सेना वापस जाने के बाद तालिबानियों ने पूरे देश में जमकर कोहराम मचाया और अफगानिस्तान में एक आतंकी समूहों के साथ मिलकर सरकार बनायी। जहां तालिबान से होने वाले खतरों को लेकर चर्चा हो रही थी इसी बीच पाकिस्तान मीलों दूर बैठ कर भारत में आतंकी हमले की साजिश रच रहा था। पिछले कुछ सालों से जम्मू कश्मीर को छोड़ दिया जाए तो भारत में कोई बड़ा आतंकी हमला नहीं हुआ है। पठानकोट, उरी, पुलवामा जैसे बड़े आतंकी हमले जम्मू कश्मीर में हुए थे, जिसके बदले में भारत ने सर्जिकल स्ट्राइक भी की थी। अब पाकिस्तान अपने नये इरादों के साथ भारत में आतंकी साजिश रच रहा था लेकिन दिल्ली पुलिस ने उसके मंसूबों को नाकाम कर दिया। 

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल द्वारा गिरफ्तार किए गये 6 कथित आतंकवादियों मंगलवार देर रात कोर्ट के सामने पेश किया गया और सभी को 14 दिन की पुलिस कस्टडी में भेज दिया गया। दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ ने मंगलवार को पाकिस्तान समर्थित आतंकवादी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया और पाकिस्तान में आईएसआई द्वारा प्रशिक्षित दो आतंकवादियों सहित छह लोगों को गिरफ्तार किया। यह जानकारी अधिकारियों ने दी। पुलिस ने बताया कि ये आतंकवादी देश में आगामी त्योहारों के दौरान कई विस्फोट करने की योजना बना रहे थे। पुलिस ने कहा कि पाकिस्तान स्थित अनीस इब्राहिम, जो दाऊद इब्राहिम का भाई है, आतंकी योजना को अंजाम देने के लिए अंडरवर्ल्ड के गुर्गों से जुड़ा था।

पाकिस्तान द्वारा संचालित आतंकी मॉड्यूल मामले में आतंकी आरोपियों से पूछताछ में भारत में आतंकी हमलों को अंजाम देने के लिए बनाई जा रही खतरनाक साजिश के कुछ चौंकाने वाले विवरण सामने आए हैं। सूत्रों ने टाइम्स नाउ को बताया है कि दो आतंकी आरोपियों- ओसामा (22) और जीशान कमर (28) ने दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल द्वारा पूछताछ के दौरान खुलासा किया है कि उन्हें रेलवे ट्रैक और पुलों को उड़ाने का प्रशिक्षण दिया गया था। दोनों को बड़ी संख्या में यात्रियों को ले जाने वाली ट्रेनों के समय / मार्ग का विवरण हासिल करने का निर्देश दिया गया था ताकि जब आतंकी साजिश को अंजाम दिया जाए तो मरने वालों की संख्या बड़ी हो।

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल द्वारा जिस आतंकी साजिश का भंडाफोड़ किया गया था, उसकी योजना 1993 के मुंबई सीरियल धमाकों की तर्ज पर बनाई गई थी। पुलिस ने आरोपियों के पास से दो आईईडी बरामद किए हैं जिनमें विस्फोटक और आरडीएक्स था। सूत्रों ने चैनल को बताया कि आरोपियों ने कुछ लोगों के नामों का खुलासा किया है जो स्लीपर सेल का हिस्सा हैं। ISI आतंकी मॉड्यूल मामले में और गिरफ्तारियों की बड़ी संभावना है। पूछताछ में पता चला है कि अंडरवर्ल्ड और पाकिस्तान-आईएसआई प्रशिक्षित आतंकी मॉड्यूल के जरिए आतंकी मॉड्यूल को संचालित किया जा रहा था।

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने 14 सितंबर को छह लोगों की गिरफ्तारी के साथ पाकिस्तान द्वारा संचालित आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया। पुलिस ने जान मोहम्मद शेख (47) उर्फ 'समीर', ओसामा (22), मूलचंद (47), जीशान कमर (28), मोहम्मद अबू बकर (23) और मोहम्मद आमिर जावेद (31) को गिरफ्तार किया। छह आरोपियों में से दो (ओसामा और जीशान) पाकिस्तान से प्रशिक्षित आतंकी गुर्गे हैं और इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) के निर्देशों के तहत काम कर रहे थे। ओसामा और जीशान ने भी पाकिस्तान का दौरा किया और थट्टा के एक फार्महाउस में प्रशिक्षण प्राप्त किया। उन्हें सीरियल आईईडी विस्फोटों को अंजाम देने, बम बनाने, आईईडी बनाने और दैनिक उपयोग की वस्तुओं की मदद से आगजनी करने का प्रशिक्षण दिया गया था। दिल्ली पुलिस ने पुष्टि की है कि दाऊद इब्राहिम का भाई अनीस इब्राहिम आतंकी योजना को अंजाम देने के लिए अंडरवर्ल्ड के गुर्गों से जुड़ा था।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव