साकेत लहर का बड़ा खुलासा कोहना पुलिस चैकी प्रभारी ने आपदा को बनाया आमदनी का जरिया


 चर्चाओं से बचने के लिये चौकी प्रभारी रफीक अहमद ने श्यामनाथ रेलवे लाइन को बनाया अपना ठिकाना

राइट हैण्ड के माध्यम से चौकी प्रभारी  करवा रहे वाहन चालको से वसूली

सीतापुर। भैसो को काटने वाले कसाईयों को संरक्षण देकर अपनी जेबो का वजन तौलने वाले कोहना चौकी प्रभारी का एक मामले का खुलासा हुआ है। कोहना चौकी प्रभारी आपदा को अवसर में किस तरह बदलते है आज इसका खुलासा साकते लहर कर रहा है। भले ही चैकी प्रभारी इस बात से इंकार कर रहे हो लेकिन हकीकत और सूत्रो के दावे यही है कि कोरोना काल और कोरोना प्रोटोकाल में केाहना पुलिस चौकी प्रभारी रफीक अहमद ने कोरोना जैसी राष्ट्रय आपदा को अपनी आमदनी का जरिया बना लिया और वाहनों चालको से अपने राइट हैण्ड राजू के माध्यम से वसूली शुरू करवा दी जो आज भी बदस्तूर जारी है। सूत्रो की माने तो कोहना चैकी प्रभारी श्री अहमद अपने राइट हैण्ड राजू सिपाही जिसको तबादला काफी समय पूर्व हो चुका है लेनि धन लालषा में श्री अहमद का मोह राजू सिपाही से भंग नही हो पा रहा है इस कारण वह आज भी कोहना पुलिस चैकी पर तैनात है? अहम सवाल यह भी है कि जब सिपाही राजू को तबादला हो चुका है तो वह रिलीव क्येा नही हो रहा है। उसको तैनाती के जगह क्यो नही भेजा जा रहा है। इन सब सवालों के जवाब मांगने पर कोहना पुलिस चैकी प्रभारी या तो अपनी बगले झाकने लगते है या फिर पूरी बाजी अपने अधिकारियों के उधर फेंक देते है। लेकिन जो वूसली का मामला प्रकाश में आया है इस बेहद सनसनी खेज है। शहरी इलाके को न चुनकर कोहना पुलिस चौकी प्रभारी ने अपनी पुलिस चौकी के बार्डर वाला इलाका चुनते हुए हर रोज शाम को वह श्यामनाथ रेलवे क्रासिंग पर पहुंच जाते है और दो पहिया वाहन चालको की चेंकिंग शुरू कर देते है जिसमें हेलमेट से लेकर मास्क तक चेक किये जाते है और जो व्यक्ति मास्क नही लगाये होता है उसको चालान की धमकी दी जाती है वाहन चालक सहम जाता है और सिपाही राजू से वाहन को छोड़ने की बात होती है। सिपाही राजू वाहन चालको से वसूली कर उसको छोड देते है। अलबत्ता जो वसूली की जा रही है उसम नाम मात्र की रसीदे काटी जाती है बाकी का पैसा कथित तौर पर यह दोनेा लोग अपनी अपनी जेबो में रख लेते है इस प्रकार के दावे जहंा सूत्रो द्वारा किये जा रहे है वही स्वयं वाहन चालक यह कहते हुए सुने जा रहे है कि इस समय दो पहिया वाहनों चालको से वसूली करने के मामले में कोहना पुलिस चौकी सबसे आगे है। यहां पर तैनात सिपाही राजू हर हाल में वाहन चालको से  वसूली कर ही लेते है प्रेम से लेकर भय दिखाकर राजू वसूली करता है। 


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव