सी.एम.एस. कैम्पसों में उमंग व उत्साह से मनाया गया अन्तर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस

 


लखनऊ,
10 सितम्बर। सिटी मोन्टेसरी स्कूल के कैम्पसों में बड़े उत्साह व उमंग के साथ अन्तर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस  मनाया गया। इस अवसर पर विभिन्न शिक्षात्मक-साँस्कृतिक कार्यक्रमों के माध्यम से छात्रों को न सिर्फ साक्षरता के महत्व से अवगत कराया गया अपितु उन्हें अपने घर-परिवार व आस-पड़ोस में साक्षरता का अखल जगाने हेतु प्रेरित किया गया। सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने छात्रों, शिक्षकों व अभिभावकों को ‘अन्तर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस’ की बधाई देते हुए कहा कि छात्रों को सम-सामयिक व सामाजिक जागरूकता के विभिन्न विषयों से अवगत कराने एवं सामाजिक उत्थान में युवा पीढ़ी की भागीदारी को बढ़ाने के उद्देश्य से सी.एम.एस. में इस प्रकार के समारोह उत्साहपूर्वक आयोजित किये जाते हैं, जिससे भावी पीढ़ी समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारियों को समझकर सामाजिक विकास में रचनात्मक योगदान दे सके।

सी.एम.एस. राजेन्द्र नगर (द्वितीय कैम्पस) में आयोजित साक्षरता दिवस समारोह में साक्षरता के चार आयामों  स्पीकिंग, रीडिंग, राइटिंग एवं न्यूमेरेसी पर विशेष रूप से प्रकाश डाला गया। इसके अलावा, सामुदायिक सेवा के रूप में ‘डिजिटल साक्षरता वर्कशाॅप’ की घोषणा की गई, जिसके माध्यम से अभिभावक अपने बच्चों की शैक्षिक प्रगति की जानकारी प्राप्त कर सकेंगे। इसी प्रकार, सी.एम.एस. अलीगंज (द्वितीय कैम्पस) द्वारा आयोजित साक्षरता दिवस समारोह में शिक्षा में प्रौद्योगिकी के उपयोग को बढ़ावा देने पर जोर दिया गया, साथ ही सी.एम.एस. के ‘विजन-2025’ पर चर्चा-परिचर्चा सम्पन्न हुई। इस समारोह के माध्यम से सी.एम.एस. छात्रों ने संदेश दिया कि  समाज के प्रत्येक व्यक्ति को साक्षर और शिक्षित होने के अधिकार है और किसी को भी इससे वंचित नहीं किया जाना चाहिए। इसी प्रकार, सी.एम.एस. आर.डी.एस.ओ. कैम्पस, स्टेशन रोड कैम्पस एवं राजाजीपुरम (द्वितीय कैम्पस) में बड़े उत्साह व उमंग के साथ अन्तर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस मनाया गया।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव