धर्म रक्षा ही मेरा उद्देश्य --महंत प्रीतम दास महाराज

 


मछरेहटा/सीतापुर  धर्मो रक्षति रक्षितः धर्म की रक्षा ही सनातन की सबसे बड़ी तपस्या है ।इसी कारण आज के परिदृश्य को देखते हुए विश्व हिंदू परिषद व बजरंग दल समय समय पर बैठके, गोष्ठियां ,व आयोजन आयोजित करता है ताकि लोगो को धर्म की रक्षा हेतु प्रेरित कर सके ।यह बात विश्व हिंदू परिषद के मठ मंदिर प्रमुख  सीतापुर बडा हनुमान मंदिर  मछरेहटा के महंत प्रीतमदास ने 3 दिवसीय मेला जल बिहार के तृतीय दिवस पर कही ।बताते चले कि लगभग 35 वर्षो से निर्बाध चल रहे मेला जलविहार का कल अंतिम दिवस था ।जिसमे बाहर से आने वाली अचम्भ नाथ लीला दर्शन मंडल के कलाकारों द्वारा भगवान श्री कृष्ण की बाल लीलाओं की झांकी प्रस्तुत की गई ।इस अवसर पर क्षेत्र भर की माताएं ,बहने और सम्भ्रांत लोग शामिल हुए ।इस मेला जल बिहार के अंतिम दिवस के अवसर पर महंत प्रीतम दास ने धर्म की रक्षा पर अपना व्याख्यान दिया । इस कार्यक्रम के आयोजन कर्ता के रूप में संरक्षक स्वयम बजरंग बली जी महाराज ,अध्य्क्ष -दिनेश कुमार अवस्थी , व्यवस्थापक महंत बाबा प्रीतमदास महाराज ,मनोज रावत  प्रधान प्रतिनिधि ,अनिल मिश्रा ,रामकृष्ण गुप्ता,अनिल दीक्षित, गोलू टेंट हाउस ,मन्नू शुक्ला,लवकुश अवस्थी ,अर्पित अवस्थी , आदि लोगो ने कार्यक्रम की शोभा बढाई ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव