सवारियों की जान से खिलवाड़ करते अवैध टैक्सी संचालक


 बिना परमिट संचालित हो रहे सवारी वाहनों से राजस्व का नुकसान

हरपालपुर हरदोईकस्बा में तीन पहिया व मैजिक वाहन बदरवास के गांवों को सवारियां लाने जाने के लिए चालकों द्वारा किस तरह नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। यह किसी से छिपा नहीं है। इसके बाद भी प्रशासन द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। भले ही टेंपो को आरटीओ द्वारा 6 सवारियां और मैजिक को 7 सवारियां बैठने की अनुमति प्रदान की जाती है। लेकिन टेक्सी और मैजिक चालकों के द्वारा नियम को ताक पर रखकर 6 से 7 की जगह 15 से अधिक सवारियां (स्कूल बच्चे) बैठाकर स्कूली बच्चों व यात्रियों की जान से खिलवाड़ किया जा रहा है। पुलिस और आरटीओ इस संबंध में कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। स्थिति यह है कि ऑटो मैजिक इतने ओवरलोडिंग हो रहे हैं कि कभी भी अनियंत्रित होकर गंभीर हादसा होने की आशंका बढ़ रही है। इसके बाद भी न तो इस ओर स्कूल प्रबंधक ध्यान दे रह हैं और न ही संबंधित विभाग इन वाहन चालकों पर कोई ठोस कार्रवाई कर रहा है। ऐसे में ऑटो, मैजिक चालकों के द्वारा चंद रुपयों के लालच में बच्चों की जिंदगी से खेला जा रहा है। इस और प्रशासन को जल्द ही ध्यान देना चाहिए। कस्बे से लोगो आवागमन करने वाले टैक्सी वाहनों को चालकों द्वारा बिना परमिट के ही संचालित की जा रहा है। ऐसे में सरकार को हर महीनों हजारों रुपए का चुना तो लग ही रहा है। बल्कि कभी कोई हादसा हो गया तो इनके खिलाफ कोई ठोस कार्रवाई भी नहीं हो पाएगी। कस्बे में ही करीब दो दर्जन से अधिक वाहन बिना परमिट के कस्बे से यात्रियों को लाने-ले जाने का काम कर रहे हैं। ऑटो व मैजिक चालकों द्वारा  से 7 सीट की क्षमता वाले ऑटो, मैजिक में 14 से अधिक बच्चें व  और ग्रामीणों द्वारा सामान रख लिया जाता हैं। तो ऑटो व मैजिकों में बच्चों व ग्रामीणों को कभी- कभी लटक कर स्कूल व गांव जाना पड़ता है।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव