नेकी की दीवार सामाजिक संस्था, एक प्रयास सभी का




लखीमपुर खीरी
।नेकी की दीवार एक छोटा सा प्रयास है जिसके माध्यम से हम लोग गरीब बच्चों की व असहाय लोगों की आहट तक पहुंच कर उनके दर्द को बांटने का कार्य करते हैं नेकी की दीवार जैसा कि आप लोगों ने नाम सुना ही होगा नेकी की दीवार आज किसी नाम के लिए मोहताज नहीं है। छोटी सी जगह पूरनपुर डिस्ट्रिक्ट पीलीभीत से शुरू हुई नेकी की दीवार आज पूरे भारत में काम कर रही है। संस्था का सिर्फ एक ही मकसद समाज का उत्थान व गरीबों की भलाई। नेकी की दीवार इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड अपना नाम दर्ज करा सकती है। वह तमाम अधिकारियों से प्रशस्ति पत्र प्राप्त कर चुकी है। इसी मुहिम को आगे बढ़ाते हुए लोगों की आर्थिक स्थिति शहरों की उपेक्षा गांव देहात में अच्छी नहीं है। आज संस्था मे मेरा गांव मेरा देश मुहिम को चलाकर गांव के लोगों को जागरूक व दवा वसामग्री से राहत देने का काम शुरू कर दिया बड़े-बड़े शहरों में तो लोग जुड़ ही रहे साथ ही साथ छोटे कस्बों में भी लोग अपना रुझान दिखा रहे हैं मानव सेवा परमो धर्मा मानकर नर नारायण की सेवा में लगे हुए नेकी की दीवार के संस्थापक गुरमेल सिंह लखीमपुर खीरी के निवासी हैं जिन्होंने पीलीभीत से पूरे प्रदेश में नेकी की दीवार के माध्यम से लोगों की सेवा की अपील की है  करोना महामारी व लोगों की आर्थिक स्थिति को देखते हुए नेकी की दीवार की तरफ से राम मूर्ति स्मारक भोजीपुरा के सहयोग से गुरुद्वारा तारा सिंह भारतिया  फार्म पहाड़पुर कुकरा खीरी मैं एक फ्री दवाओं का कैंप आयोजित किया जा रहा है इस कैंप के माध्यम से 200 लोगों का फ्री चेकअप आंखों के संबंधित समस्याएं वह ग्रामीण महिलाओं में स्त्री रोग विशेषज्ञ हिस्सा लेंगे आपके सहयोग से इस प्रयास को आगे बढ़ाया जा सकता है संयोजक  महेंद्र सिंह , वरिंदर सिंह , गुरलाल सिंह, पहाड़पुर प्रधान हरविंदर सिंह नेकी की दीवार के फाउंडर गुरमेल सिंह आदि लोग इसमें शामिल हैं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव