निजी अस्पताल में गर्भवती महिला व बच्चे की मौत अस्पताल में परिजनों ने किया हंगामा, मचा हड़कम्प

 


शाहाबाद।
नगर के एक निजी क्लीनिक में डिलीवरी के दौरान जच्चा बच्चा की मौत पर परिजनों ने अस्पताल में काफी देर तक हंगामा किया और कोतवाली पुलिस को डाक्टर के खिलाफ तहरीर दी। मौके पर पँहुची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मझिला थाना क्षेत्र के गांव सराय रानक निवासी इंद्रपाल पुत्र पूरन ने कोतवाली में दी गई तहरीर में राजसुमन क्लीनिक की डाक्टर पर उसकी गर्भवती पत्नी के इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है। गुरुवार को सुबह लगभग 8 बजे उसने अपनी पत्नी राजमुखी को प्रसव के लिये राज सुमन क्लीनिक में प्रसव हेतु भर्ती कराया था।बकौल इंद्रपाल डॉ सुमन मिश्रा ने उसकी गर्भवती पत्नी को देखा और बताया कि बच्चा नहीं बचेगा परंतु पत्नी की जान बच सकती है। इसके बाद उक्त डॉक्टर ने उसकी पत्नी को अपने यहां भर्ती कर इलाज शुरू कर दिया। इंद्रपाल का आरोप है कि डॉक्टर द्वारा उससे सादे कागज पर हस्ताक्षर भी बनवा लिए गये।आरोप है कि इलाज के दौरान उसे उसकी पत्नी को देखने तक नही दिया और बंद कमरे में डाक्टर इलाज करती रही। लगभग 5 घंटे बाद उक्त डॉक्टर द्वारा बताया गया कि उसकी पत्नी राज मुखी व बच्चा दोनों की मृत्यु हो गई है जिससे वह सन्न रह गया। मृतका के पति ने डॉक्टर पर इलाज में आरोप लगाते हुये कोतवाली में तहरीर देकर आरोपी डॉक्टर सहित क्लीनिक पर कार्रवाई की मांग की है। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है वही राज सुमन क्लीनिक की डॉक्टर सुमन मिश्रा एवं उनकी एमबीबीएस पुत्री श्वेता ने बताया कि उक्त मरीज का इलाज कहीं अन्य स्थान पर किया जा रहा था गुरुवार को सुबह 9ः00 बजे इंद्रपाल अपनी पत्नी राजमुखी को गम्भीर अवस्था में लेकर उनके अस्पताल आया। महिला की मेडिकल चेकिंग के दौरान हिमोग्लोबिन कम था तथा बच्चा भी फंसा हुआ था। इलाज के वक्त महिला की गंभीर हालत को देखते हुए डॉक्टर द्वारा महिला के पति से उच्च अस्पताल में इलाज कराने के लिए गाड़ी लाने को कहा गया। महिला का पति वहां से गया काफी देर बाद लौटा तब तक महिला की बेड पर ही मृत्यु हो गई। इस सम्बंन्ध में एस आई कप्तान सिंह ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही आगे की कार्यवाही की जाएगी।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव