इनसेटः-खेरौली गांव में बनती है बड़ी मात्रा में कच्ची शराब


 

घटना का कारण तो फिलहाल पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मालूम होगा, लेकिन वीरेंद्र की मौत कहीं ना कहीं कच्ची शराब के कारण सेवन से ही होने की आशंका जाहिर की जा रही है‌। क्षेत्र के कुछ संभ्रांत लोगों का कहना है की क्षेत्र में खेरौली गांव को कच्ची शराब का हब कहा जाता है। जहां पर बड़ी मात्रा में अवैध शराब का बनाने और बेचने का धंधा होता है।


 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव