पोषण माह के तहत गर्भवती महिलाओं की गोद भराई की रस्म सम्पन्न


 छह माह की आयु पूरी कर चुके बच्चों का हुआ अन्नप्राशन 

हरदोई। बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग एवं एचसीएल फांउडेशन द्वारा स्वर्ण जयंती सभागार मे राष्ट्रीय पोषण माह 2021 के अंतर्गत लोगों को पोषण के प्रति जागरूक करने के लिए जागरूकता बैठक का आयोजन किया गया। इस अवसर पर सरकार की मंशानुसार महिलाओं तथा बच्चों में स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता पैदा करने की उद्देश्य से अध्यक्ष जिला पंचायत प्रेमावती द्वारा आयोजन स्थल पर गर्भवती माता की गोदभराई तथा 6 माह की आयु पूर्ण कर चुके बच्चे के अन्नप्राशन की रस्म निभाकर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। कार्यक्रम में कुल 40 गर्भवती महिलाओं, किशोरियों व् बच्चों के मध्य पोषण किट का वितरण किया गया। बैठक को सम्बोधित करते हुए अध्यक्ष जिला पंचायत प्रेमावती ने कहा कि हमारी सरकार निरंतर कुपोषण मुक्त भारत के लिए गंभीरता से प्रयास कर रही है। बच्चों, गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली महिलाओं के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए ही हमारे प्रधानमंत्री भारत सरकार द्वारा समग्र पोषण, पोषण अभियान और राष्ट्रीय पोषण मिशन आदि प्रमुख कार्यक्रम प्रारंभ किये गए हैं। कुपोषण की रोकथाम और उपचार के लिए सरकारी योजनाओं के साथ हम सभी को स्वच्छ पेयजल, स्वच्छता तथा बीमारियों की रोकथाम और उनके समुचित उपचार के सम्बन्ध में भी जागरूकता बढ़ाने की आवश्यकता है। तभी हम अपने निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त कर सकेंगे और कुपोषण मुक्त भारत का सपना साकार हो सकेगा। बैठक के दौरान बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग हरदोई एवं एचसीएल फांउडेशन द्वारा पोषण के प्रति लोगों को जागरूक करने तथा कुपोषण के प्रति संवेदनशील बनाने के लिए सरकार द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं की विस्तृत जानकारी दी गई। बैठक मे प्रमुख रूप से अपर जिला अधिकारी वंदना त्रिवारी, परियोजना निदेशक गजेंद्र तिवारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी विभा मिश्रा, उपायुक्त मनरेगा प्रमोद सिंह, प्रभारी बाल विकास परियोजना अधिकारी नीतू वर्मा तथा एचसीएल फांउडेशन सौरभ तिवारी सहित आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां एवं सम्मानित माताएं बहनें उपस्थित रहीं।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव