क्या अब भाजपा-MNS में होगी दोस्ती?


राज ठाकरे और चंद्रकात पाटिल की मुलाकात के बाद अटकलें तेज

महाराष्ट्र भाजपा प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल और राज ठाकरे की मुलाकात ने नई अटकलों को जन्म दे दिया है। इस मुलाकात के बाद महाराष्ट्र की सियासत में भाजपा और एमएनएस गठबंधन को लेकर अटकलें तेज हो गई हैं। इसको लेकर पिछले कुछ महीनों से लगातार लगाई जा रही है। हालांकि वर्तमान में देखे थे इन अटकलों को और भी मजबूती मिल रही है। चंद्रकांत पाटिल कि राज ठाकरे से पिछले 15 दिनों में यह दूसरी मुलाकात है। इस मुलाकात के बाद चंद्रकांत पाटिल ने बातचीत में कहा कि राज ठाकरे ने मुझे चाय पर घर पर बुलाया था। इस दौरान हमारी राजनीतिक बातें हुई। मैंने उनसे भाजपा के साथ गठबंधन में आने से पहले उत्तर भारतीयों के प्रति अपना स्टैंड बदलने के लिए कहा है।
इसके बाद चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि राज ठाकरे ने कहा कि उनके मन में उत्तर भारतीयों के लिए कोई द्वेष या कटुता नहीं है। मैं उत्तर प्रदेश और बिहार में भी जाकर यही कहूंगा कि यहां के लोगों को  स्थानीय नौकरी में 80% वरीयता दी जानी चाहिए। चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि संयोग से मैं और राज ठाकरे नासिक शहर में ही थे। वहीं पर हमारी अचानक मुलाकात हुई थी। उसी समय राज ठाकरे ने मुझे चाय पर निमंत्रण दिया था। हालांकि चंद्रकांत पाटील ने यह भी कहा कि चुनाव लड़ने को लेकर कोई बातचीत नहीं हुई है।
आपको बता दें कि महाराष्ट्र में शिवसेना के अलग होने के बाद भाजपा लगातार शिवसेना की तोड़ ढूंढने की कोशिश कर रही है। राज ठाकरे को अपने साथ लाकर शिवसेना को जाने वाली मराठी वोट को बांटने में भाजपा कामयाब हो सकती है। शिवसेना के साथ राज ठाकरे की दूरी को देखते हुए भाजपा को इस बात की उम्मीद भी है। हालांकि भाजपा को इस बात का भी डर है कि अगर मनसे के साथ वह जाती है तो उत्तर भारतीयों के वोट का नुकसान उसे झेलना पड़ सकता है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक