दलितों का सबसे अधिक शोषण कर रही है मोदी व योगी सरकार-विनीत वर्मा


 कांग्रेसियों ने ’भाजपा गद्दी छोड़ो पद यात्रा’ निकाल कर किया प्रदर्शन 

हरदोई। मोदी सरकार और योगी सरकार में बढ़ती महंगाई, भ्रष्टाचार बढ़ती बेरोजगारी, ध्वस्त कानून व्यवस्था के विरोध में ’भाजपा गद्दी छोड़ो पद यात्रा’ दोपहर 11ः00 बजे कलेक्ट्रेट परिसर से ’सिनेमा चैराहा, बड़ा चैराहा, नुमाइश चैराहा, सोल्जर बोर्ड चैराहा’ होते हुए कलेक्ट्रेट परिसर में श्रीमान सिटी मजिस्ट्रेट को मुख्य अतिथि  छैन्प् रास्ट्रीय सयोजक अमलेंद्र त्रिपाठी व प्रदेश महासचिव पिछड़ा वर्ग राजीव कुमार सिंह लोध की उपस्थिति में ज्ञापन मांग पत्र पदयात्रा कार्यक्रम को संबोधित करते हुए ’प्रदेश महासचिव पिछड़ा वर्ग डॉक्टर राजीव कुमार सिंह लोध’ ने कहा कि भाजपा ने देश में ऐसा कोई नहीं जिसको उसने ठगा नहीं चाहे किसान, मजदूर ,महिलाएं ,बेरोजगार व्यापारी और सरकारी कर्मचारी केंद्र की मोदी सरकार और उत्तर प्रदेश की योगी सरकार हर मोर्चे पर विफल रही है। ’एनएसयूआई के राष्ट्रीय संयोजक अमलेन्द्र त्रिपाठी’ ने कहा की मोदी सरकार ने युवाओं को धोखा दिया है रोजगार के नाम पर केवल झुनझुना पकडाने का काम किया है मोदी सरकार को युवाओं से माफी मांगने चाहिए व भाजपा को सत्ता में रहने का नैतिक हक नहीं बचा है  बढ़ती और कमरतोड़ महंगाई ने महिलाओं का बजट बिगाड़ दिया है महिलाओं को घर चलाने में बेहद उस दुश्वारियों का सामना करना पड़ रहा है। जिलाध्यक्ष कांग्रेस अनुसूचित जाति विभाग विनीत वर्मा ने कहा कि ने कहा की आज भारतीय जनता पार्टी ने देश की अर्थव्यवस्था को जमींदोज कर दिया है भ्रष्टाचार भुखमरी बेरोजगारी चरम पर है। भाजपा देश की एकता और अखंडता के लिए बड़ा खतरा है देश की इनसे सतर्क रहना होगा। उक्त पदयात्रा मे प्रमुख रूप से  आशुतोष कुमार गुप्ता, दीपक दीपक वर्मा, वृन्दावन बिहारी श्रीवास्तव, पवन गुप्ता, राजीव श्रीवास्तव, आफजाल अहमद, फिरोज अहमद, राजीव वर्मा, राहुल सिंह, संजय वर्मा, शिवकुमार वर्मा, सुदेश वर्मा, रोहित वर्मा अनुज वर्मा, नीरज तिवारी, मुईन अहमद, देवेंद्र वर्मा, बक्शा, राहुल कुमार वर्मा एवं सैकड़ो कार्यकर्ता उपस्थित रहे।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक