लखीमपुर:साड़ी खींचने के मामले में पूरा थाना सस्पेंड


 
लखीमपुर में ब्लॉक प्रमुख पद के नामांकन के दौरान पसगवां ब्लाक में सपा प्रत्याशी ऋतु सिंह की साड़ी खींचने के मामले में सीएम योगी ने सख्ती दिखाई है। सीएम योगी आदित्यनाथ के आदेश के बाद पसगवां थाना के सीओ, एसओ समेत 6 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है।

वहीं, पुलिस जांच में महिला से बदसलूकी करने वाला युवक निर्दलीय प्रत्याशी का समर्थक निकला है। बताया जा रहा है कि गिरफ्तार युवक भाजपा की सांसद रेखा वर्मा का रिश्तेदार है। इस मामले में शुक्रवार को पुलिस ने 2 लोगों के खिलाफ नामजद और एक दर्जन लोगों के खिलाफ अज्ञात में छेड़छाड़, लूट और मारपीट में मुकदमा दर्ज किया गया है। इस मामले में पुलिस ने एक को गिरफ्तार भी किया है।

लखीमपुर जिले के पसगवां ब्लॉक में गुरुवार को नामांकन के दौरान बवाल हुआ। आरोप है कि भाजपा समर्थकों ने सपा प्रत्याशी ऋतु सिंह का नामांकन नहीं होने दिया। ऋतु सिंह और उनकी प्रस्तावक अनीता की साड़ी खींची गयी। ब्लाक में दाखिल हो रहीं प्रत्याशी की प्रस्तावक अनीता को सड़क से खींच लिया गया। उनके साथ मारपीट भी हुई। इसके बाद सपा के पूर्व जिला उपाध्यक्ष क्रांति कुमार सिंह को गेट से खींच लाए। उनको बंधक बनाने का प्रयास किया। मामले के तूल पकड़ते ही सपा सुप्रीमो ने ऋतु सिंह को लखनऊ बुला लिया है। आज उन्होंने अखिलेश यादव से मुलाकात की है।

पीड़ित महिला से बोले अखिलेश-बहन, मैं तुम्हारे साथ हूं

सपा नेत्री ऋतु सिंह ने बताया कि राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से लगभग 1 घंटे मुलाकात चली। उन्होंने पूरी घटना का ब्यौरा लिया है साथ ही आश्वासन दिया है कि सम्मान के लिए हर लड़ाई में वह साथ देंगे। ऋतु सिंह ने कहा मैं क्षत्रिय हूं। यह अपमानजनक घटना मैं भूल नहीं पा रही हूं। जिन लोगों ने मेरी साड़ी उतारने की कोशिश की वह सभी क्षेत्र के ही हैं। मैं सभी को पहचानती हूं। उन्होंने कहा कि मैं चाहती हूं कि आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा दी जाए।

वहीं, ऋतु के पति धर्मवीर सिंह ने बताया कि हम अखिलेश यादव से मिलकर लखीमपुर के लिए निकल चुके हैं। वहां सीओ ऑफिस में बयान दर्ज कराना है। उन्होंने बताया कि हमने आरओ को अपना नामांकन दे दिया था लेकिन वहां से पर्चा छीन कर फाड़ दिया गया है तो यह हमारी जिम्मेदारी नहीं है। आयोग को चाहिए कि हमारा नामांकन वैध माना जाए।

सीओ समेत 2 इंस्पेक्टर, 3 चौकी इंचार्ज सस्पेंड

पसगवां कांड में सीएम के सख्त रुख के बाद सीओ मोहम्मदी, अभय मल्ल, इंस्पेक्टर पसगवां, आर्दश कुमार सिंह, इंस्पेक्टर क्राइम पसगवां, हनुमान प्रसाद, चौकी इंचार्ज बरवर, महेश गंगवार, चौकी इंचार्ज जेबीगंज, दुर्वेश गंगवार और उचौलिया चौकी इंचार्ज, उग्रसेन सेन को सस्पेंड किया गया है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक