लाभार्थी लाचार, अपात्रों की बहार, बीडीओ की चुप्पी सेक्रेटरी ने तीन परिवारों में ही दे दिये दर्जनो आवास


 शाहाबाद। गौरिया में सेक्रटरी ने 3 परिवारों में ही एक दर्जन लोंगों को आवास दे दिये। आवास आवंटन को लेकर उठ रहे सवालों के बीच बबाल मचा हुआ है। तो बीडीओ प्रमेन्द्र पाण्डेय जांच कर अपात्रों पर कार्यवाही की बात कर मामले को टरकाना चाहते हैं। ग्राम पंचायत घुरहा के लोंगों ने बीडीओ प्रमेंद्र पांडेय को प्रार्थना पत्र देकर आवास आवंटन में धांधली का आरोप लगाया है। आरोप है कि सचिव उदय सिंह यादव और पूर्व प्रधान रामनाथ ने गांव के 3 परिवारों अजय कुमार पुत्र हरिशरण, रमेश पुत्र हरिशरण, विनोद पुत्र हरिशरण, नन्हे भइया पुत्र हरिशरण और वेदपाल पुत्र प्यारे, नेतराम पुत्र प्यारे, हरिश्चंद्र पुत्र प्यारे,मगरे पुत्र प्यारे की पत्नी के नाम आवास आवंटित किया जो बन रहा है। इतना ही नही लालाराम पुत्र समले, बेचे पुत्र समले, रामनिवास पुत्र समले व गजरानी पत्नी समले को आवास आवंटित कर दिया। इसके अलावा तुलसी व तुलसी की बहू को आवास दे दिया गया। जिनका पक्का मकान पहले से ही बना हुआ है। इस तरह 3 परिवारों में ही सेक्रेट्री ने 12 लोंगों को आवास का लाभ दे दिया। गौरिया गांव की रजिया बेगम पत्नी बन्ने का आरोप है कि पूर्व प्रधान और सचिव ने मिलकर अपात्रों से पैसा लेकर पात्र व्यक्तियों को सरकारी लाभ से वंचित कर दिया। पीड़िता के अनुसार उसके बगल में ही सानिया पत्नी शमीम का पक्का लिंटर तुड़वाकर आवास बनवा दिया गया तथा रीता पत्नी बब्बन का भी लिंटर तोड़ा गया है उन्हें भी आवास दिया जा रहा है।गाँव के गरीब और असहाय परिवारो को अभी तक छत नसीब नहीं हो सकी।ऐसे तमाम लोगों के आवास स्वीकृत किए गए हैं जो अपात्र हैं।पूर्व प्रधान ने सचिव से मिलकर अपने चहेते अपात्र व्यक्तियों को आवासीय योजना से लाभान्वित कर दिया।इस बाबत बीडीओ प्रमेन्द्र पांडेय ने बताया कि शिकायत मिली है।जांच कर अपात्रो के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। 


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक