शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया सम्मानित


लखनऊ,
17 अगस्त। पूर्व प्रधानमंत्री स्वं. श्री अटल बिहारी वाजपेयी की तृतीय पुण्य स्मृति के अवसर पर साइन्टिफिक कन्वेन्शन सेंटर में आयोजित एक भव्य समारोह में भारत रत्न पं. अटल बिहारी वाजपेयी मेमोरियल फाउण्डेशन के तत्वावधान में सिटी मोन्टेसरी स्कूल के संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी को पुरष्कृत कर सम्मानित किया गया। यह सम्मान मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने डा. जगदीश गाँधी को शाल ओढ़ाकर एवं स्मृति चिन्ह प्रदान कर दिया। समारोह में उप-मुख्यमंत्री श्री दिनेश शर्मा, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष श्री स्वतंत्र देव सिंह, जल शक्ति मंत्री डा. महेन्द्र सिंह, कानून मंत्री श्री ब्रजेश पाठक, वित्तमंत्री श्री सुरेश खन्ना, शहरी विकास मंत्री श्री आशुतोष टंडन, लखनऊ की मेयर श्रीमती संयुक्ता भाटिया आदि अनेक गणमान्य लोग उपस्थित थे। भारत रत्न पं. अटल बिहारी वाजपेयी मेमोरियल फाउण्डेशन के अध्यक्ष श्री ब्रजेश पाठक ने सभी अतिथियों का हार्दिक स्वागत करते हुए आभार व्यक्त किया।

सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि डा. जगदीश गाँधी ने इस प्रतिष्ठित सम्मान हेतु भारत रत्न पं. अटल बिहारी वाजपेयी मेमोरियल फाउण्डेशन, मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ एवं प्रदेश सरकार का हार्दिक आभार व्यक्त करते हुए कहा कि परम श्रद्धेय श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी एक सच्चे जनसेवक थे जिन्होंने भारतीय जनमानस पर अपने व्यक्तित्व व कृतित्व की अमिट छाप छोड़ी है। मुझे खुशी है कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी व मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के मार्गदर्शन में श्री वाजपेयी का सशक्त भारत का सपना दिनोदिन साकार हो रहा है।

श्री शर्मा ने बताया कि शिक्षा के क्षेत्र में डा. जगदीश गाँधी को राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर अनेकों प्रतिष्ठित पुरस्कारों से नवाजा जा चुका है तथापि यह सम्मान आपके द्वारा बच्चों की शिक्षा, उनके सर्वांगीण विकास, बाल अधिकारों, विश्व एकता एवं विश्व शान्ति हेतु किये जा रहे अथक प्रयासों को और सुदृढ़ करेगा। श्री शर्मा ने बताया कि डा. जगदीश गाँधी के मार्गदर्शन में सी.एम.एस. द्वारा विगत 20 वर्षों से लगातार अन्तर्राष्ट्रीय मुख्य न्यायाधीश सम्मेलन का आयोजन लखनऊ में किया जा रहा है। इन अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलनों में अब तक 136 देशों के 1329 से अधिक मुख्य न्यायाधीश, न्यायाधीश तथा राष्ट्राध्यक्ष प्रतिभाग कर चुके हैं तथावि विश्व की न्यायिक बिरादरी ने सी.एम.एस. की विश्व एकता, विश्व शान्ति व विश्व के ढाई अरब बच्चों के सुरक्षित भविष्य की मुहिम को भारी समर्थन दिया है।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव