आॅफलाइन पढ़ाई के लिए सी.एम.एस. के सभी कैम्पस तैयार,


 कोविड प्रोटोकाॅल के तहत 16 से खुलेंगे स्कूल

लखनऊ, 14 अगस्त। सिटी मोन्टेसरी स्कूल के सभी कैम्पस 16 अगस्त, सोमवार से कक्षा-9 से 12 तक छात्रों की आॅफलाइन पढ़ाई के लिए कोविड प्रोटोकाॅल के साथ पूरी तरह से तैयार हैं। 16 अगस्त से पुनः स्कूल खुलने पर छात्रों व शिक्षकों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए प्रशासन की गाइडलाइन के मुताबिक सभी प्रोटोकाॅल का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित किया जायेगा। सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने पुनः स्कूल खुलने पर छात्रों व शिक्षकों को बधाई देते हुए कहा कि छात्रों की सुरक्षा हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है, जिसके लिए हम कोई कोर-कसर बाकी नहीं रखेंगे। 

सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि कोविड महामारी के कारण स्कूल बंदी के दौरान पूरे देश में सर्वश्रेष्ठ आॅनलाइन शिक्षा प्रदान करने के उपरान्त अब सी.एम.एस. के शिक्षक पूरे जोशो-खरोश के साथ अपने छात्रों की आफलाइन पढ़ाई को तत्पर हैं। चूँकि कोविड महामारी के कारण काफी दिनों से छात्र स्कूल नहीं आये हैं, ऐसे में छात्रों का मनोबल बढ़ाने व उनके उत्साहवर्धन हेतु स्कूल प्रबन्धन द्वारा विशेष इन्तजाम किये गये हैं। स्कूल के प्रवेश द्वार पर ही सैनिटाइजर व मास्क की सुविधा छात्रों को उपलब्ध कराई जायेगी, साथ ही स्कूल आने वाले छात्रों की थर्मल स्कैनिंग के साथ बैण्ड-बाजे के साथ छात्रों का स्वागत किया जायेगा।

श्री शर्मा ने बताया कि सी.एम.एस. के सभी कैम्पसों के प्रवेश द्वार पर छात्रों व अभिभावकों के लिए सोशल डिस्टैन्शिंग के अनुपालन हेतु छः छः फीट की दूरी पर गोले बनाये गये हैं, साथ ही पूरे स्कूल प्रांगण में जगह-जगह कोविड प्रोटोकाॅल के दिशा-निर्देशों के पोस्टर व बैनर लगाये गये हैं। इसके अलावा, क्लास रूम में सामाजिक दूरी बनाये रखने का पूरा ध्यान रखा जायेगा। छात्रों की कक्षायें सैनिटाइज की जायेंगी। कक्षाएं दो पालियों में चलेंगी एवं प्रत्येक पाली के उपरान्त पूरे कैम्पस का पुनः सैनिटाइजेशन अनिवार्य रूप से किया जायेगा। श्री शर्मा ने बताया कि सी.एम.एस. के लगभग सभी शिक्षकों का वैक्सीनेशन हो चुका है, जिनमें से अधिकतर को वैक्सीन की दोनो डोज लग चुकी हैं।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक