राइस फोर्टिफिकेशन एक बहुत ही किफायती व संस्कृति विशिष्ट कुपोषण दूर करने का साधन है:डीएम

 


हरदोई।
जिलाधिकारी अविनाश कुमार ने बताया है कि 75वे स्वतन्त्रता दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री ने 2024 तक हर योजना के चावल को फोर्टिफाई करने की घोषणा की है। देश की 65 प्रतिशत जनसंख्या चावल खाती है, व राइस फोर्टिफिकेशन एक बहुत ही किफायती व संस्कृति विशिष्ट कुपोषण दूर करने का साधन है। राइस फोर्टिफिकेशन इसलिए आवश्यक है क्योकि राइस की पाॅलिशिंग के दौरान पोषक तत्व तथा विटामिन बी-1, बी-6 व नियासिन चावल से निकल जाते है और फोर्टिफिकेशन से आयरन, जिंग, फाॅलिक एसिड, विटामिन बी-12 पुनः जोड़ दिया जाता है। फूड फोर्टिफिकेशन विश्व के कई भागों में लगभग 100 सालों से चल रहा है। राइस मिलर्स फोर्टिफिकेशन के लिए एफआरके (फोर्टिफाइड राइस कर्नल) अथवा फोटिफाइड राइस मिक्सिंग प्लाण्ट लगा सकते है।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव