शारदा नहर के ऐचामऊ, अंटवा व माधौगंज का टूटा पुल विकास के लिए बना बाधा


 किसान अपनी फसल मंडी को न ले जाकर सस्ते दामों में बेचने को मज़बूर

माधौगंज हरदोई। शारदा नहर के ऐचामऊ, अंटवा व माधौगंज का टूटा पुल विकास के लिए सबसे बड़े बाधा बने हैं। किसान अपनी उपज को मंडी को न ले जाकर सस्ते दामों में बेचने को मज़बूर है। बिलग्राम-मल्लावां विधानसभा क्षेत्र के गांव दौलतयारपुर में बघौली मार्ग पर बना नहर का पुल  सितम्बर 2018 में पुल के चार दर धँसकर क्षतिग्रस्त हो गए थे लेकिन अभी तक इस ओर किसी का ध्यान नही गया जिसके कारण नगर पंचायत कुरसठ, अटवा अलीमर्दनपुर, कुरसठ बुजुर्ग व खुर्द, सौंहार, शहब्दा, पिलखना, बढ़ैया खेड़ा आदि दर्जनों गांव व उनके मजरे के लोगो के किसान अपनी उपज मंडी दूर दराज से होकर पहुंच पा रहे है जिससे उन्हें मंडी पहुचने में अधिक समय लगता है पुल पर भारी वाहनों के रोक होने के कारण परिवहन विभाग की बसों का आवागमन नही हो पा रहा है जिसके कारण दिल्ली व लखनऊ जाने वाली बसों के इधर से न गुजरने के कारण यहां के लोगो को परेशानी उठानी पड़ रही है। सबसे अधिक व्यस्त मार्ग होने के कारण कुछ भारी वाहन शेखवापुर पुल से निकालने लगे है वह पुल भी कमजोर हो गया है। इन पुलों का निर्माण 1926 में कराया गया था। क्षेत्र के एंचामऊ में शारदा नहर का पुल के तीन दर करीब दो दशक से टूटे हुए हैं। उन टूटे पुल के दर पर बिजली के खम्भे डालकर पैदल व साइकिल सवार जानजोखिम में डालकर निकलते है दो दशक से किसान इस क्षेत्र से अपनी उपज को कस्बे की मंडी में नही ला पा रहे है। व्यापारी नेता नवल माहेश्वरी, विधायक आशीष कुमार सिंह,सांसद जय प्रकाश ने समस्या के निदान के लिए अधिकारियों को पत्र भेजे।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक