राष्ट्रीय अध्यक्ष के स्वागत कार्यक्रम में जमकर उडी कोविड नियमों की धज्जिया, जिम्मेदार मौन


 शाहाबाद।
सरकार व समाज की नजरों में व्यापारी वर्ग व इनसे जुडे संगठनों का सम्मान किया जाता हैं लेकिन आज कोरोना की तीसरी लहर के आगाज को लेकर स्वास्थ्य विभाग सहित सरकार सभी देश व प्रदेश वासियो को तीसरी लहर से बचने के लिए जागरूक करते हुए अपील कर रही हैं कि सुरक्षा नियमों की अनदेखी ना करे लेकिन जिम्मेदार इस ओर कोई ध्यान नही दे रहे है। व्यापार मंडल के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुकुंद मिश्रा के प्रथम आगमन पर कोरोना नियमों की जमकर धज्जिया उड़ाई गई। सेनेटाइजर तो दूरदूराज तक नज़र नहीं आ रहा था तो वही उधोग व्यापार मंडल के राष्ट्रीय अध्यक्ष सहित स्थानीय पदाधिकारी भी चेहरों को दिखाने के चक्कर में कोविड नियमों को ताक पर रखे नज़र आये। अब सोचनीय यह हैं कि जब व्यापार मंडल के मुखिया ही ऐसा करेंगे तो आम व्यापारियों को क्या समझायेगें। इस स्वागत पर नगर में चर्चा का विषय बना हुआ कि पुलिस प्रशासन इनपर मेहरबान क्यो नजर आ रही है जबकि हम छोटे दुकानदारो की दुकानों पर तो ईकादुका लोग ही नज़र आते है लेकिन पुलिस का कोपभाजन बनना पड़ जाता है। बताते चले शनिवार को नगर एक मैरिज लाॅन में उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल के राष्ट्रीय अध्यक्ष माननीय मुकुंद मिश्रा का शाहाबाद में प्रथम आगमन हुआ जहां जलपान सहित व्यापारियों को संबोधित भी किया गया। इस अवसर पर शाहाबाद व्यापार मंडल के अध्यक्ष सर्वेश गुप्ता, महामंत्री संजीव बांगा  द्वारा राष्ट्रीय अध्यक्ष का भव्य स्वागत हुआ। जिसमें शाहाबाद व्यापार संगठन मंत्री अरमान खां,तनवीर खां, कोषाध्यक्ष अशोक कुमार, उपाध्यक्ष छुन्ना खां, वरिष्ठ उपाध्यक्ष विशाल गुप्ता, उपाध्यक्ष आलोक गुप्ता, जितेंद्र गुप्ता, ओम अग्निहोत्री, फहीम अहमद, रामू राठौर, राजकुमार सक्सेना, कासिफ खां, सुनील गुप्ता, अर्जुन गुप्ता, सूरज राजपूत,अर्जुन लाला, मोनू सरदार, सुल्तान खां, दिनेश वर्मा, शिवम् अरोरा, नीरज बांगा, पंकज राठौर, सचिन, कार्तिक अरोरा, आयुष अरोरा, सुमित गुप्ता  फैज़ खां, फ़राज़ खां आदि व्यापारी उपस्थित रहे। पुलिस प्रशासन कमजोर पर दिखाये जोर तो कहा तक सही है क्योंकि रोज कुआँ खोद पानी पीने वाले खोमचे दुकानदारो का आज भी शोषण हो रहा है।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव